Hari Bhoomi Logo
गुरुवार, मई 25, 2017  
Breaking News
Top

बस्तरः नदी पार करके आते हैं डॉक्टर, बचाते हैं लोगों की जान

haribhoomi.com | UPDATED Aug 25 2016 3:43PM IST
बस्तर. जिले के महिला स्वास्थ्यकर्मियों का एक दल महज एक फीट चौड़ी और आठ फीट लंबी डोंगी से नदी पार कर अबूझमाड़ के अंदरूनी गांव में पहुंच बधों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करा रहा है।
 
स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत गीदम ब्लॉक के चिरायु दल में शामिल तीन महिलाएं अपने पुरुष साथियों के साथ नदी पार के कौरगांव, तुमरीगुंडा, पाहुरनार, पदमेटा और चेरपाल पहुंचने के लिए जोखिम उठाते हैं। छोटी सी नाव से नदी पार कर करीब तीन किमी पैदल चलते हैं। इसके बाद गांव पहुंचकर मासूम बच्चों की जांच कर महिलाएं दवा उपलब्ध करा रही हैं। दल में शामिल डॉ मौसमी बरवे, फार्मासिस्ट कुमारी सीमा देवांगन एवं नर्स श्रीमती चंपा केंवट ने बताया कि अबूझमाड़ के गांवों में सेवा देना अच्छा लग रहा है।
 
बधों के परीक्षण के दौरान रोग की आशंका से तुरंत दवा देते हैं तथा गंभीर स्थिति होने पर रिफर कर देते हैं। इससे अनेक मामलों में अच्छे नतीजे आए हैं। लंबी यात्रा करने में थकावट भी होती है लेकिन सारी थकावट इस संतोष से दूर हो जाती है कि हम उन इलाकों में स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करा रहे हैं जहां पहुंच बेहद मुश्किल है। 
 
सीएमएचओ डॉ. एचएल ठाकुर ने बताया कि जिले में चिरायु अंतर्गत आठ दल गठित किए गए हैं। इनकी नियमित मानीटरिंग की जाती है। चिरायु कार्यक्रम से बाल स्वास्थ्य को उन्नत करने में बड़ी सफलता मिली है। डीपीएम डॉ. सर्वजीत मुखर्जी ने बताया कि जिन बधों को इलाज के लिए रिफर किया जाता है उनके स्वास्थ्य लाभ के संबंध में भी नियमित रूप से जानकारी विभाग द्वारा ली जाती है।
 
एक लाख बच्चों का परीक्षण
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम चिरायु अंतर्गत अब तक जिले में एक लाख से अधिक बधाों का चिकित्सकीय परीक्षण किया जा चुका है। जो बच्चे आंशिक रूप से बीमार पाए गए उनका मौके पर ही इलाज किया गया। लगभग 1400 बधाों को इलाज के लिए रिफर किया गया।
 
जल्द मिलेगी फाइबर बोट
नदी पार के गांवों की दिक्कत दूर करने छिंदनार घाट में पुल का निर्माण शासन द्वारा करने का निर्णय लिया गया है। पुल बनने के पश्चात नदी पार के गांवों को जोड़ने सड़क निर्माण का कार्य तत्काल प्रारंभ किया जाएगा। इससे पहले ग्रामीणों को दिक्कत न हो, इसके लिए प्रशासन फाइबर बोट खरीदने की कार्रवाई कर रहा है। एक पखवाड़े में फाइबर बोट छिंदनार में उपलब्ध करा दी जाएगी।
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo