Breaking News
Top

समाजसेवी अन्ना हजारे ने खोला राज, एक बार मन करा था आत्महत्या का

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 4 2017 9:23PM IST
समाजसेवी अन्ना हजारे ने खोला राज, एक बार मन करा था आत्महत्या का

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुल पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने अपने जीवन से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा, किसी जमाने में जीवन का मतलब समझ नहीं आता था। बहुत समय तक इस बात को लेकर परेशान रहा। 

मन करता था कि मैं आत्महत्या कर लूं, लेकिन इसी बीच स्वामी विवेकानंद की एक किताब हाथ लग गई और उसने मुझे जीवन का मकसद देकर आत्महत्या से बचा लिया। 

स्वामी विवेकानंद ने जिस तरह समाज और देश के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया, उसी तरह उनसे प्रेरणा लेकर मैंने देश की सेवा में जीवन लगा दिया। युवाओं को जीवन का मकसद समझना बेहद जरूरी है। इसके बगैर रास्ते से भटकने का डर होता है।

उन्होंने अपने जीवन से जुड़ी कई बातें साझा कीं, लेकिन युवाओं से यह भी कहा कि उनके रास्ते पर चलने की कोशिश न करें। उन्होंने शादी नहीं की, लेकिन युवा परिवार के साथ रहें। बस इतना ध्यान रखें कि समाज और देश के लिए सोचें। जो काम हो सके, वे जरूर करें। 

सिर्फ पैसे के पीछे भागने की मानसिकता पर भी अन्ना हजारे ने कटाक्ष किया। उन्होंने कहा, जो त्याग की भावना के साथ जीने में अानंद है, वह एसी में सोने वाले को भी नसीब नहीं होता। बैचलर होते हुए भी जीवन में कोई दाग नहीं लगना आसान नहीं होता। त्याग की शक्ति थी, इसीलिए मैं समाज के लिए कुछ कर सका।

आधे घंटे राम, एक घंटे जमीन

धन ऐश्वर्य के पीछे भागने वालों पर अन्ना हजारे ने कहा, कुछ लोग मंदिर में आधा घंटा राम नाम जपते हैं और एक घंटा यह सोचते हैं कि कैसे दूसरों की जमीन पर कब्जा किया जाए।

लोगों को समझना चाहिए कि बड़े-बड़े मंदिर बना लेने से कुछ नहीं होगा। जब वहां भगवान की मूर्ति विराजित होगी, तभी लोग मंदिर में पूजा करने आएंगे। इसी तरह इंसान के विचार शुद्ध होंगे, तभी उसकी इज्जत होगी।

गोस्वामी के साथ पर भड़की कांग्रेस

अन्ना हजारे एयरपोर्ट से वृंदावन सभागार और वहां से डोंगरगांव तक पं. दीनदयाल उपाध्याय पर कथा सुनाने वाले भाजपा नेता विनोद गोस्वामी की कार में गए। इसे लेकर कांग्रेस ने जमकर नाराजगी जताई। 

शहर कांग्रेस अध्यक्ष विकास उपाध्याय ने उन्हें संघ और भाजपा की बी टीम का हिस्सा भी कह डाला। इससे पहले कांग्रेसियों ने अन्ना हजारे को ज्ञापन देने की कोशिश भी की, लेकिन उन्होंने नहीं लिया। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
anna hazare said once he had committed suicide in raipur chhattisgarh

-Tags:#Anna Hazare#Raipur#Social Activist#Suicide
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo