Breaking News
Top

शर्मनाक! पुलिस को चकमा देकर फरार हुए 7 कैदी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 1 2017 1:35PM IST
शर्मनाक! पुलिस को चकमा देकर फरार हुए 7 कैदी

रायपुर जेल से पेशी और इलाज के लिए बाहर भेजे गए कैदी वापस जेल आएंगे या नहीं, इसकी कोई गारंटी नहीं है। वजह है जेल प्रशासन द्वारा बरती जा रही लापरवाही। आलम यह है कि बीते 8 महीनों में 7 कैदी फरार हो चुके हैं।

इनमें से पांच कैदियों को अांबेडकर अस्पताल में इजाल के लिए जेल से बाहर निकाला गया था, जबकि दो कैदियों को कचहरी में पेशी के लिए। यहां से वे पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए।

इसके बावजूद पुलिस कर्मियों की लापरवाही बरकरार है। अस्पताल व कचहरी परिसर में कैदियों की निगरानी करने के बजाय पुलिस कर्मी मोबाइल फोन पर व्यस्त नजर आ रहे हैं। यही नहीं ड्यूटी पर तैनात पुलिस की रहनुमाई के कारण कैदी आराम से अपने परिजनों से मुलाकात कर रहे हैं, बाहर का मनपसंद खाना भी खा रहे हैं।

जबकि ये तमाम चीजें नियम विरुद्ध हैं। मंगलवार को हरिभूमि पड़ताल में भी इस तरह की चीजें नजर आईं। इस दौरान आंबेडकर अस्पताल और कचहरी परिसर में कई कैदी ऐसे मिले, जिनके हाथ में हथकड़ी लगी थी और उसकी सुरक्षा में लगा पुलिसकर्मी मोबाइल फोन पर बात करने में व्यस्त था।

सिर्फ खानापूर्ति

आंबेडकर अस्पताल में सुरक्षा के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जाती है। निगरानी के लिए लगे अधिकतर कैमरेे खराब हैं। बाथरूम की खिड़कियां इतनी जर्जर हैं कि कैदी उसी रास्ते आसानी से फरार हो सकते हैं। केंद्रीय जेल में रोज लगभग 80 से 90 बंदियों की पेशी होती है। इसके लिए 10 से 15 पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाती है।

जेल की बस से उन्हें कोर्ट परिसर लाया जाता हैं। यहां पुलिसकर्मी चाय-नाश्ता करने और फोन में बात करने में मशगुल हो जाते हैं। ऐसे में कैदियों तक एक तो नशे का सामान आसानी से पहुंच जाता है और वहीं से भागने का रास्ता भी तय हो जाता है। इसके बाद भी जेल प्रशासन से पुलिस प्रशासन तक इस पर अंकुश लगाने गंभीर नहीं हैं।

सिटी के एडिशनल एसपी विजय अग्रवाल ने कहा कि पेशी के समय पुलिस कर्मियों को सर्तक रहने की हिदायत दी जाती है। अगर कहीं लापरवाही हो रही है, तो उसमें सुधार किया जाएगा।

ये हो चुके फरार

-13 अगस्त को आंबेडकर अस्पताल से विचाराधीन बंदी राकेश दुर्गा

- 4 जून काे सजायाफ्ता कैदी अनिल कुमार आंबेडकर अस्पताल से फरार

- 30 मई को विचाराधीन बंदी धीरेंद्र चंद्राकार कोर्ट में पेशी के दौरान

-3 अप्रैल को बंदी जितेंद्र ढीमर कोर्ट में पेशी के समय फराप

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
7 prisoners have been absconding in 8 months from raipur jail

-Tags:#Raipur jail#Chhattisgarh News#Raipur News#Ambedkar Hospital#Crime News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo