Top

मान्यता नहीं होने के बावजूद करा दी ये कोर्स, विद्यार्थियों की भविष्य अंधकारमय

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jan 3 2018 4:17AM IST
मान्यता नहीं होने के बावजूद करा दी ये कोर्स, विद्यार्थियों की भविष्य अंधकारमय

आरसीआई से मान्यता नहीं होने के बाद भी विद्यार्थियों को भ्रम में रखकर पंडित जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालेज में दो साल तक बीएएसएलपी कोर्स की पढ़ाई पूरी करा दी गई।

विद्यार्थियों के सामने जब इस हकीकत का खुलासा हुआ, तो उन्हें अपना भविष्य अंधकार में नजर आने लगा। विद्यार्थियों ने इस मामले में कालेज प्रबंधन से कई बार चर्चा की, लेकिन संतोषजनक जवाब नहीं मिल पाया।

विद्यार्थियों ने इस मामले को बड़ा फर्जीवाड़ा मानते हुए पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर दोषियों के खिलाफ कार्र‌वाई की मांग की है।

यह भी पढ़ेंः खुशखबरी: नए साल में पुलिस विभाग करेगा इतने पदों पर भर्ती।

इस कोर्स की मान्यता के बिना कॉलेज ने ली मोटी फीस

मेडिकल कालेज के नाक, कान, गला विभाग द्वारा बीएएसएलपी कोर्स का संचालन किया जाता है। इस कोर्स के संचालन के लिए संबंधित महाविद्यालय के भारतीय पुनर्वास परिषद (आरसीआई) से संबद्धता लेना जरूरी है।
 
ईएनटी विभाग को वर्ष 2013-14 और 2015-16 के पाठ्यक्रम के संचालन के लिए आरसीआई से मान्यता नहीं मिली थी। इसके बाद दोनों साल बीएएसएलपी कोर्स का संचालन मेडिकल कालेज द्वारा किया गया और दोनों साल दस-दस की निर्धारित सीट पर विद्यार्थियों को मोटी फीस लेकर एडमिशन दे दिया गया।
 
विद्यार्थियों को इस भ्रम में रखा गया था कि इस विषय के लिए उन्हें मान्यता है, लेकिन वास्तव में ऐसा कुछ नहीं था। प्रवेश लेने वाले जब अपने दो साल की पढ़ाई पूरी कर चुके थे, तो उनके सामने यह जानकारी आई कि कालेज ने बगैर मान्यता के इस कोर्स का संचालन कर दिया था। आरसीआई की संबद्धता के बगैर पढ़ाई पूरी होने का कोई मतलब ही नहीं है।
 

कोर्स चलाने के लिए नहीं  मान्यता 

विद्यार्थियों ने बताया, उन्हें जब मामले की जानकारी हुई, तो उन्होंने ईएनटी विभाग के चिकित्सकों से इस बारे में पूछताछ की, तो उन्होंने यह आश्वासन दिया था कि इस कोर्स के संचालन के लिए उनके पास आरसीआई से अनुमति है, लेकिन जब इसकी जानकारी आरटीआई के माध्यम से ली गई, तो पता चला कि दोनों साल कोर्स संचालन के लिए अनुमति नहीं मिली थी।

कॉलेज छात्रों भविष्य अंधकार में

 
मान्यता नहीं होने के बाद भी मेडिकल कालेज के ईएनटी विभाग द्वारा इस कोर्स का संचालन किया जाना विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ है। मामले में पुलिस अधीक्षक से शिकायत की गई है और जांच कर इसमें दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
pandit jawaharlal nehru medical college is studying without the recognition of baslp course

-Tags:#Education news RCI#Pandit Jawaharlal Nehru Medical College#BASLP Course#Students#Police FIR#

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo