Top

SSC CHSL 2017: जानें परीक्षा से जुड़ी हर बात

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Dec 2 2017 3:58AM IST
SSC CHSL 2017: जानें परीक्षा से जुड़ी हर बात

अगर आपने हायर सेकेंडरी एग्जाम पास कर लिया है और सेंट्रल गवर्नमेंट के विभिन्न डिपार्टमेंट्स में जॉब करना चाहते हैं तो आपके लिए सुनहरा मौका है। एसएससी सीएचएसएल एग्जाम को क्लीयर कर आप अपने सपने को पूरा कर सकते हैं। इस एग्जाम के बारे में डिटेल में जानिए।

हाल में स्टाफ सेलेक्शन कमीशन यानी एसएससी ने कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल एग्जाम-2017 के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इसके अंतर्गत एलडीसी, पोस्टल असिस्टेंट, सॉर्टिंग असिस्टेंट और डाटा एंट्री ऑपरेटर्स के 3259 पदों के लिए भर्ती की जाएगी। इसके लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 18 दिसंबर, 2017 है, जबकि ऑनलाइन एग्जाम 4 मार्च, 2018 से 26 मार्च, 2018 तक होगा।

यह भी पढेंः SSC CGL में पदों की संख्या बढ़ी, अब इतने हजार लोगों को मिलेगा रोजगार का अवसर

क्वालिफिकेशन-एज लिमिट 

इसके लिए आवेदन करने वाले इच्छुक अभ्यार्थी की आयु-सीमा 18 से 27 साल के बीच होनी चाहिए। अभ्यार्थी का जन्म 2 अगस्त, 1991 के बाद और 1 अगस्त, 2000 से पहले हुआ हो। ऊपरी आयु-सीमा में सरकारी नियमानुसार छूट का प्रावधान किया गया है। किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं या इसके समकक्ष परीक्षा पास करने वाले अभ्यार्थी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

अभ्यार्थी एसएससी की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। जनरल और ओबीसी कैटेगरी के पुरुष अभ्यार्थी के लिए 100 रुपए एप्लीकेशन फीस देनी है, जबकि महिलाओं, एससी- एसटी, दिव्यांग और एक्स सर्विस मैन को फीस में पूरी छूट दी गई है।

एग्जाम पैटर्न

टीयर-1 एग्जाम में इंग्लिश लैंग्वेज, जनरल नॉलेज, क्वांटिटेटिव एप्टिट्यूड, जनरल नॉलेज से सवाल पूछे जाएंगे। प्रत्येक सेक्शन 50 मार्क्स का होगा और इसके लिए 60 मिनट का समय निर्धारित किया गया है। इसमें ऑब्जेक्टिव टाइप सवाल पूछे जाएंगे। हर सब्जेक्ट के 25 सवाल होंगे और हर सही जवाब के लिए 2 मार्क्स मिलेंगे और गलत होने पर 0.50 मार्क्स काट लिए जाएंगे।

इसमें सफल होने वाले कैंडिडेट्स ही टीयर-2 एग्जाम में शामिल हो सकते हैं। यह 100 मार्क्स का डिस्क्रिप्टिव पेपर होता है। यह राइटिंग स्किल्स को परखने के लिए होता है और इसमें 60 मिनट में एक राइटअप, जिसकी वर्ड लिमिट 200 से 250 शब्द होती है और एक लेटर या एप्लीकेशन जिसकी वर्ड लिमिट 150 से 200 शब्द होती है, लिखवाए जाते हैं। इस एग्जाम को पास करने के लिए कम से कम 33 फीसदी मार्क्स लाने जरूरी हैं।

उसके बाद ही कम से कम कट ऑफ मार्क्स देखे जाते हैं। जबकि टीयर-3 एग्जाम में टाइपिंग टेस्ट होता है। इसे केवल पास करना होता है। फाइनल मेरिट में इसके मार्क्स नहीं जोड़े जाते हैं। यह एग्जाम पास करने के बाद टीयर-1 और टीयर-2 के मार्क्स को जोड़कर आखिरी मेरिट लिस्ट जारी की जाती है।जबकि डाटा एंट्री ऑपरेटर पोस्ट के लिए अप्लाई करने वाले अभ्यार्थी का स्किल टेस्ट होता है। 

यह भी पढेंः SSC में निकली बंपर भर्ती, 12वीं पास अभ्यर्थियों के लिए सुनहरा मौका

एलडीसी और सेक्रेटेरिएट में सेक्रेटरी पोस्ट के लिए अप्लाई करने वाले अभ्यार्थी का टाइपिंग टेस्ट होता है। रखें ध्यान

यह एग्जाम ऑनलाइन होता है। अगर आप ऑनलाइन मोड में पेपर देने में मुश्किल महसूस करते हैं तो पूरी तैयारी होने के बावजूद अच्छा स्कोर नहीं कर पाएंगे, क्योंकि अगर टाइम मैनेजमेंट सही नहीं होगा तो नुकसान हो सकता है। अधिक जानकारी और अप्लाई करने के लिए वेबसाइट ssc.nic.in पर लॉगइन करें।

 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo