Breaking News
Top

दरिंदों ने नाबालिग को बनाया हवस का शिकार, मां-बाप और भाई की आंखें फोड़कर की हत्या

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 27 2017 6:37PM IST
दरिंदों ने नाबालिग को बनाया हवस का शिकार, मां-बाप और भाई की आंखें फोड़कर की हत्या

बिहार के भागलपुर जिले से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जहां रविवार को एक ही परिवार के तीन सदस्यों की गला रेतकर हत्या कर दी गई। इस घटना के बाद बेटी को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

इस मामले की जांच में ऐसे कई खुलासे हुए हैं जो रूह कंपाने वाले हैं। बलात्कार और ट्रिपल मर्डर की इस वारदात में बदमाशों ने दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी। 

यह भी पढ़ें- बिल न भरने पर हॉस्पिटल ने महिला को 12 दिनों तक बनाया बंधक

मां-बाप व भाई की हत्या

घटना रविवार देर रात की है, जहां भागलपुर के हरिजन टोला के रहने वाले एक परिवार पर बदमाशों ने जमकर कहर बरसाया।

दरिंदे नाबालिग लड़की की अस्मत लूटने उसके घर पहुंचे थे लेकिन घर में मौजूद मां-पिता और भाई द्वारा विरोध करने पर बदमाशों ने पहले भाई और पिता को पीटते हुए हाथ-पैर तोड़े फिर उनकी आंखें निकाल ली।

इतना ही नहीं दरिंदों ने उसकी गुप्तांग काटते हुए 17 साल की बेटी को अपनी हवस का शिकार बनाया। इस घटना में माता-पिता और भाई मौत हो गई।

घटना की जानकारी मिलने पर आस-पड़ोस के लोग मौके पर पहुंचे और दुष्कर्म पीड़िता को पटना के पीएमसीएच में गंभीर हालत में भर्ती कराया। 

स्थानीय लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शवों को कब्जे में लेते हुए पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। 

यह भी पढ़ें- शर्मनाक! महिला टीचर ने छात्रा को बनाया हवस का शिकार, भेजती थी ऐसी तस्वीरें

क्या कहना है पुलिस का

पुलिस का कहना है कि इस घटना की इकलौती चश्मदीद नाबालिग है, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। लड़की के होश में आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जा सकेगी।  

पुलिस का कहना है कि आस-पड़ोस के लोगों की जानकारी पर घटना की जांच की जा रही है। पुलिस जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेगी।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
minor rape in bhagalpur parents brother murdered

-Tags:#Bhagalpur#Rape#Murder#Crime News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo