Breaking News
Top

नोटिस पर शरद यादव ने कहा- पहाड़ से लड़ रहे हैं तो चोट तो लगेगी ही

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 13 2017 4:23PM IST
नोटिस पर शरद यादव ने कहा- पहाड़ से लड़ रहे हैं तो चोट तो लगेगी ही
जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव ने पार्टी और राज्य सभा की अपनी सदस्यता पर मंडराते संकट पर अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि उनकी लड़ाई पद की नहीं सिद्धांत और संविधान बचाने की है। 
 
 
जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव ने पार्टी और राज्यसभा की सदस्यता पर मंडराते संकट पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। अपना पक्ष रखते हुए उन्होंने कहा है कि उनकी लड़ाई पद की नहीं सिद्धांत और संविधान बचाने के लिए है। 
 
यादव ने कहा कि उन्हें राज्यसभा से सदस्यता खत्म करने को लेकर नोटिस मिल गया है, जिसका वो माकूल जवाब भी जल्द देंगे। उन्होंने कहा कि तमाम कानूनी पहलुओं को उनके वकील देख रहे हैं।
 
राज्यसभा की सदस्यता जाने के सवाल पर यादव ने कहा, 'हम पहाड़ से लड़ रहे हैं तो यह सोच कर ही लड़ रहे हैं कि चोट तो लगेगी ही। राज्य सभा की सदस्यता बचाना मामूली बात है, हमारी लड़ाई साझी विरासत बचाने की है। सिद्धांत के लिए हम पहले भी संसद की सदस्यता को दो बार छोड़ चुके हैं।'
 
इसके साथ ही यादव ने साफ किया कि चुनाव आयोग में उन्होंने नहीं बल्कि जदयू से निष्किसत महासचिवों ने अपना दावा पेश किया है। हालांकि इसमें वो महासचिवों के ही साथ हैं। 
 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
jdu leader sharad yadav break silence on notice on rajya sabha membership

-Tags:#Sharad Yadav#JDU#Lalu Prasad Yadav#RJD#Election Commission

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo