Breaking News
Top

बिहार: बाढ़ का तांडव जारी, 24 घंटे में लाखों लोग बेहाल

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 14 2017 9:04PM IST
बिहार: बाढ़ का तांडव जारी, 24 घंटे में लाखों लोग बेहाल

बिहार में बीते 24 घंटे से उत्तर बिहार में हो रही तेज बारिश व नेपाल से छोड़े गए पानी के कारण बाढ़ की स्थिति भयावह हो गई है। उत्तर बिहार के 40 प्रखंडों की लगभग 35 लाख की आबादी बाढ़ से घिरी हुई है। मरने वालों की संख्या 41 हो गई है।

राज्य सरकार ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सेना की मदद मांगी थी। इस सिलसिले में प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की और बाढ़ के हालात का जायजा लिया। 

प्रधानमंत्री ने बिहार को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है। दूसरी ओर सीएम नीतीश कुमार आज बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए पटना पहुंचे चुके हैं। उनके साथ मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह भी मौजूद हैं। 

ये भी पढ़ें - स्वतंत्रता दिवस: न्यू इंडिया में गरीबी के लिए कोई स्थान नहीं- राष्ट्रपति

बकौल मुख्य सचिव, बाढ़ प्रभावित किशनगंज, अररिया और पूर्णिया के इलाकों में पहले से ही मौजूद एसडीआरएफ की टीम लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में जुट गई है। 

केन्द्र सरकार से एनडीआरएफ की 10 टुकड़ियां मांगी गयी हैं। भुवनेश्वर से चार टुकड़ी किशनगंज व पूर्णिया के लिए रवाना हो गई है। पूर्णिया के बायसी प्रखंड के कदमसाड़ी में फंसे करीब 200 लोगों को हेलीकॉप्टर से बाहर निकालकर कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का कार्य आरंभ हो गया है।

पीएम ने दिया मदद का आश्वासन

सीएम ने एनडीआरएफ की दस अतिरिक्त टुकड़ियां व वायुसेना के हेलीकॉप्टर मांगे। सीएम को पीएम की ओर से हर संभव मदद देने का आश्वासन मिला। सीएम आज बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। 

इस दौरान वे बाढ़ की स्थिति और बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में चलाए जा रहे बचाव एवं राहत कार्यों का जायजा लेंगे। विशेषकर किशनगंज, अररिया, पूर्णिया और कटिहार में उत्पन्न स्थिति को देखेंगे।

12 जिलों में स्थिति गंभीर

4.85 लाख क्यूसेक पानी वाल्मीकिनगर गंडक बराज से रविवार को छोड़े जाने से स्थिति और विकराल हो गई है। अररिया, मधेपुरा, सहरसा, सुपौल, पूर्वी चंपारण, प. चंपारण, पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज, सीतामढ़ी, दरभंगा, मधुबनी में स्थिति गंभीर है।

8 राज्यों से रेल संपर्क ठप, 18 ट्रेनें फंसी

उत्तर बिहार और बंगाल में बाढ़ के कारण किशनगंज-सिलीगुड़ी-रेल मार्ग ठप हो गया है। इसके साथ ही पूर्वोत्तर के आठ राज्यों को शेष भारत से रेल संपर्क टूट गया है। 

कटिहार से सिलिगुड़ी के मध्य रेल ट्रैक पर कई जगह पानी आ जाने की वजह से 18 से ज्यादा रेलगाड़ियों को रविवार को रद्द करना पड़ा है। पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने कहा कि पूर्वोत्तर से शेष भारत की रेल सेवा बाढ़ के कारण ठप हो गई है। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
bihar floods 35 lacks people affected

-Tags:#Bihar#Flood#Nitish Kumar
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo