Top

'बंधन तोड़' ऐप ने बचाई दो नाबालिगों की जिंदगी, इस तरह से करता है काम

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Dec 4 2017 5:41AM IST
'बंधन तोड़' ऐप ने बचाई दो नाबालिगों की जिंदगी, इस तरह से करता है काम

बिहार में एक लड़की का जबरन बाल विवाह हो रहा था और इससे बचने का कोई आशा और उपाय न देखकर उसने संयुक्त राष्ट्र द्वारा शुरू किए गए मोबाइल ऐप को संदेश भेजा और उसने लड़की को बाल विवाह का शिकार होने से बचा लिया।

यूनाइटेड नेशन्स पॉपुलेशन फंड (UNPF) ने जेंडर अलायंस नाम की एक पहल की है। पटना स्थित जेंडर अलायंस ने सितंबर महीने में राज्य में 'बंधन तोड़' नाम से एक एड्रॉयड मोबाइल ऐप शुरू किया है। यह ऐप दहेज, बाल विवाह, घरेलू हिंसा और लैंगिक असामनता के मुद्दों पर लोगों को जागरूक करता है।

यह भी पढ़ें- Vodafone ने उतारा धांसू प्लान, जियो और एयरटेल का पत्ता हुआ साफ

डीजीपी के आदेश में त्वरित कार्रवाई

जेंडर अलायंस की एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'अपने सामाजिक सहयोगियों के द्वारा इस शिकायत की पुष्टि किए जाने के बाद हमने तत्काल पटना में डीजीपी से संपर्क किया। इसके बाद डीजीपी ने स्थानीय पुलिस अधिकारियों को इसके बारे में सूचना दी। इसके बार बाद कार्रवाई शुरू की और इस तरह दो नाबालिगों को बचा लिया गया।

ऐप ने बचाए दो नाबालिग

मौके पर कार्रवाई के लिए पहुंचे पुलिस अधिकारी ने कहा, 'संयोगवश लड़का भी नाबालिग (15) था। इसलिए अगर यह ऐप नहीं होता तो दो किशोर बाल विवाह के शिकार हो सकते थे।' उन्होंने कहा, 'यह ऐप हिंदी में है क्योंकि हम ग्रामीण इलाके के लोगों तक भी पहुंचना चाहते थे। वहां अब भी इस तरह की प्रथाएं अत्यधिक संख्या में प्रचलित है। ऐप में SOS बटन है, जिससे पीड़ित सीधे हमसे संपर्क कर सकते हैं।'

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
unpf introduces bandhan tod android app to prevent child marriage and dowery system

-Tags:#Bandhan Tod App#Bihar#Patna#United Nations#Child Marriage
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo