Top

दुनिया में कहीं भी हो दुर्घटना, बीमा कंपनी करेगी भुगतान, जानें पूरा मामला

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Dec 4 2017 6:48AM IST
दुनिया में कहीं भी हो दुर्घटना, बीमा कंपनी करेगी भुगतान, जानें पूरा मामला

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने आदेश दिया है कि अगर विदेश में भी कोई वाहन दुर्घटना होती है तो बीमा कंपनी को दावों का भुगतान करना होगा। कोर्ट ने कहा कि अगर वाहन भारत में खरीदा गया हो और यहीं पर उसका बीमा हुआ हो तो विदेश में भी दुर्घटना होने पर बीमा कंपनी क्लेम के भुगतान से नहीं बच सकती।

यह भी पढ़ें- जल्द लॉन्च होगा Hyundai Elite i20 मॉडल, जाने कीमत और फीचर्स

हाई कोर्ट ने यह आदेश कुरुक्षेत्र के उन 54 तीर्थयात्रियों के परिजनों की याचिका पर दिया है, जिनकी 18 जून 1995 को नेपाल में एक हादसे में मौत हो गई थी। बस के ड्राइवर ने नियंत्रण खो दिया था जिसके बाद बस नेपाल की त्रिशुली नदी में गिर गई थी।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि एक बार किसी वाहन का बीमा हो गया तो वह इजाजत वाले किसी भी भौगोलिक क्षेत्र में जाए, उसे बीमा कवर मिलेगा। कोर्ट ने कहा कि बीमा कंपनी सिर्फ इस आधार पर मुआवजा देने की अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकती कि वाहन को किसी खास शहर, राज्य या किसी खास भौगोलिक क्षेत्र में इस्तेमाल किया गया था।

दरअसल मोटर एक्सिडेंट क्लेम ट्राइब्यूनल ने बस मालिक को आदेश दिया था कि वह मृतकों में से एक के परिजनों को 4.34 लाख रुपए का मुआवजा दे। ट्राइब्यूनल ने कहा था कि दुर्घटना नेपाल में हुई थी इसलिए बीमा कंपनी क्लेम का भुगतान करने के लिए जिम्मेदार नहीं है।

यह भी पढ़ें- गजब: लॉन्च होने से पहले ही बिक गए 11 लाख फोन, जानें क्या है खास इस फोन में

ट्राइब्यूनल के इस आदेश के खिलाफ बस मालिक हाई कोर्ट पहुंचा था। बीमा कंपनी ने हाई कोर्ट में दलील दी थी कि बीमा कवर सिर्फ भारत में वाहन के इस्तेमाल पर दिया गया था इसलिए यहां से बाहर हुए किसी भी हादसे की सूरत में वह मुआवजा देने के लिए जिम्मेदार नहीं है। लेकिन कोर्ट ने बीमा कंपनी की दलीलों को खारिज कर दिया।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
insurance company to pay across the world in case of accident

-Tags:#Punjab and Haryana High Court#Motor Insurance#India#Insurance Claim
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo