Top

आपका स्मार्टफोन डाटा और आधार नहीं है सुरक्षित, शेयर हो रहा है 'सीआईए' के साथ!

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 2 2017 1:35AM IST
आपका स्मार्टफोन डाटा और आधार नहीं है सुरक्षित, शेयर हो रहा है 'सीआईए' के साथ!

प्राइवेसी खतरे और आधार कार्ड पर गृह मंत्रालय के पूर्व सचिव राजीव महर्षि ने बड़ा खुलासा किया है। राजीव महर्षि ने कहा कि  40 फीसदी लोग जो स्मार्टफोन और पॉपुलर एप्लिकेशन का इस्तेमाल करते हैं वो अपना डेटा पूरी दुनिया के साथ शेयर कर देते हैं।

राजीव महर्षि ने यह भी कहा कि स्मार्टफोन यूजर्स में से लगभग 40 परसेंट लोग अपना डाटा दुनिया के साथ-साथ सीआईए (सेंट्रल इंवेस्टिगेशन एजेंसी) को भी शेयर कर देता है।

इसका मतलब यह हुआ की भारतीय स्मार्टफोन यूजर का डाटा दुनिया की सबसे बड़ी इंवेस्टिगेशन एजेंसी के पास है। राजीव महर्षि ने यह बात  संसद की स्टैंडिंग कमेटी के सामने रखी थी। इस कमेटी के अध्यक्ष कांग्रेस के बड़े नेता और अर्थशास्त्री पी. चिदंबरम हैं।

आपको बता दें कि भारतीय सरकार ने भारतीय बाजार में उपलब्ध स्मार्टफोन कंपनियों से कुछ दिन पहले हैंडसेट के सुरक्षा उपायों का पूरा ब्यौरा मांगा था।

जिन कंपनियों ने सरकार को जानकारी मुहैया करायी है उनमें एचटीसी, श्योमी, कोमियो, विवो, लेनेवो, एचएमडी, एमटेक, इंटेक्स, वन प्लस, ह्यूवै, हॉनर और इन फोकस शामिल हैं।    

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
indian smartphone data is not safe

-Tags:#Smartphone#CIA#Home Ministry#Rajeev Maharshi
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo