Breaking News
Top

अब अमेरिका निर्मित जीपीएस पर निर्भर नहीं रहेगा भारत

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 5 2017 5:13AM IST
अब अमेरिका निर्मित जीपीएस पर निर्भर नहीं रहेगा भारत

आने वाले कुछ दिनों में भारत अमेरिका निर्मित जीपीएस पर निर्भर नहीं रहेगा। इस दिशा में भारत ने शुक्रवार को  एक महत्पूर्ण निर्णय लिया है।

इसरो की क्षेत्रीय स्थिति प्रणाली एनएवीआइसी अब भारतीय परमाणु घड़ी पर निर्भर रहेगी।

आइएसटीआरएसी सेल और राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोगशाला ने इस काम के लिए एक एमओयू पर हस्ताक्षर किया है।

इसे भी पढ़ें- BSNL के बाद MTNL पर हुआ मालवेयर अटैक

इस एमओयू के तहत भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो को राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोगशाला समय की सटीकता तय करने में मदद करेगी।

इस कदम से आने वाले दिनों में अंतरिक्ष मिशन में भारत की आत्म-निर्भरता बढ़ जाएगी, और भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी अमेरिकी जीपीएस पर निर्भर नहीं रहेगी।

विज्ञान एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद के अनुसार राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोगशाला भारत के पुराने संस्थानों में से एक है।

इसे भी पढ़ें- Paytm लॉन्च करेगा मैसेजिंग सर्विस

राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोगशाला अपनी परमाणु घडि़यों से भारतीय मानक समय उपलब्ध कराता है। दुनिया में 400 परमाणु घडि़यां हैं और इनमें से भारत के पास चार से पांच घडि़यां हैं।

10 करोड़ साल में इन घडि़यों के काम में एक सेकंड की चूक होती है। ऐसे में आने वाले दिनों में इस घडी का इसरो के मिशन में अत्यंत महत्पूर्ण भूमिका होगी।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
india will no longer rely on american gps

-Tags:#ISRO#NPL#GPS#India#America

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo