Top

वास्तु शास्त्र: इन स्थानों पर भूलकर भी न बनाएं शारीरिक संबंध, वरना जीवनभर झेलनी पड़ेगी तबाही

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 28 2017 3:37PM IST
वास्तु शास्त्र: इन स्थानों पर भूलकर भी न बनाएं शारीरिक संबंध, वरना जीवनभर झेलनी पड़ेगी तबाही

वास्तु शास्त्र के नियम और सिद्धांत व्यक्ति को सही जीवन जीने की दिशा प्रदान करता है। वास्तु के इन्हीं नियमों से कुछ ऐसे नियम है जो कि शारीरिक संबंधों से जुड़े हैं। शास्त्रों के अनुसार पति-पत्नी के बीच शारीरिक संबंध होना अति आवश्यक है।

ऐसे संबंध बड़े नहीं बल्कि पवित्र संबंध माने गए हैं। इसलिए वास्तु शास्त्र के अंतर्गत इस नियम को विशेष नियम के रूप में माना गया है। वास्तु शास्त्र के इस नियम के अनुसार हम आपको ये बता रहे हैं कि किन स्थानों पर शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए।

पवित्र नदी के समीप 

शास्त्र के अनुसार किसी भी पवित्र नदी के समीप शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। ऐसे संबंध विध्वंस का कारण बनते हैं। ऋषि परासर और सत्यवती के ऐसे संबंध ने ही महाभारत के युद्ध को जन्म दिया था।

अग्नि के पास 

हिन्दू धर्म में अग्नि को देवता का रूप माना गया है। इसलिए भूककर भी अग्नि के समीप शारीरिक सबंध नहीं बनाना चाहिए। ऐसा करने वाला महापाप का भागी होता है।

इसे भी पढ़ें: स्वप्न शास्त्र: सपने में बनाते हैं शारीरिक संबंध ? ये होता है इसका मतलब

ब्राहमण के समीप 

शास्त्रों के अनुसार अगर आसपास ऋषि-मुनि, कोई ब्राहमण और कोई गुरु हों तो ऐसी स्थिति में शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। ऐसा करना उनका अपमान माना जाता है।

मंदिर परिसर में 

शास्त्रों के अनुसार मंदिर परिसर में शरीरिक संबंध बनाना महापाप माना जाता है। इसके अलावे मंदिर के आसपास भी शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए।

बीमार व्यक्ति के आसपास 

एक ही घर में या एक छत के नीचे कोई बीमार व्यक्ति हो जो मृत्यु के कगार पर है। ऐसे जगह पर शारीरिक संबंध बनाने से बचना चाहिए।

नवजात के समीप 

शास्त्रों के अनुसार नवजात की उपस्थिति में शारीरिक संबंध बनाना महापाप है। पति-पत्नी को इस स्थिति में शारीरिक संबंध बनाने से बचाना चाहिए।

दूसरे के घर में 

शास्त्रों के अनुसार किसी अन्य के घर में भी शारीरिक संबंध बनाने से बचना चाहिए। यहाँ तक कि रिश्तेदार के घर में भी पति-पत्नी को शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: 'तुलसी' के 11 पत्तों ऐसे करें ये शास्त्रीय उपाय, 'धन' से जुड़ी सभी समस्याएं होंगी दूर

कब्र के पास 

शास्त्रों के अनुसार किसी भी कब्र के आस शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। इस स्थान पर ऐसा करना बेहद बुरा होता है। ऐसा माना जाता है कि ऐसे स्थानों से निकलने वाली उर्जा दाम्पत्य जेवन को तबाह कर देती है।

मृत शव के पास 

कब्र के अलावे मृतक के पास भी शारीरिक संबंध बनाना महा पाप है। यदि किसी घर में परिवार के सदस्य की मृत्यु के बाद, शव को लाया गया हो, तो जब तक वह शव घर से बाहर नहीं चला जाता, तब तक ऐसे संबंध स्थापित नहीं करने चाहिए।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo