Top

वास्तु शास्त्र: 'कैंसर' जैसे जानलेवा रोग को जन्म देता है, घर का यह 'वास्तु दोष'

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 27 2017 5:51PM IST
वास्तु शास्त्र: 'कैंसर' जैसे जानलेवा रोग को जन्म देता है, घर का यह 'वास्तु दोष'

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में धन संबंधी परेशानी हो या फिर परिवार में मन-मुटाव सभी के लिए वास्तु दोष जिम्मेवार होता है। वास्तु शास्त्र के हिसाब से हर परेशानी के लिए बुरी ऊर्जाएं जिम्मेदार होती हैं। वास्तु दोष से उत्पन्न नकारात्मक उर्जा सभी कार्यों को बिगाड़ते हैं।

वास्तु शास्त्र के अनुसार दिशाओं का गलत उपयोग कैंसर जैसा जानलेवा बीमारियों को जन्म देता है। वास्तु शास्त्र में दिशाओं के कुल 8 दोष ऐसे हैं जो व्यक्ति को कैंसर जैसा जानलेवा रोग देने के लिए जिम्मेदार हैं। दिशाओं से संबंधित ये 8 वास्तु दोष हैं।

पहला दोष

घर की उत्तर-पूर्व दिशा गोलाकार में हो या फिर किसी कारण से घर की दिशा को पूरी तरह से बंद करवा दिया जाए। ऐसी स्थिति में यह भयंकर वास्तु दोष उत्पन्न करता है। जिस कारण सीने के किसी भाग में कैंसर हो सकता है। जिससे व्यक्ति के फेफड़े प्रभावित हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: साप्ताहिक राशिफल: इन राशि वालों के लिए प्रमोशन और बदलाव के संकेत

दूसरा दोष 

घर का कोई हिस्सा दबा होना या ऊंचा होना भी वास्तु दोष उत्पन्न करता है। यदि घर की उत्तर पूर्व दिशा बढ़ी हुई है लेकिन पश्चिम दिशा दबी हुई है। इस स्थिति में घर में रहने वाली किसी भी व्यक्ति को नसों और गर्दन में कैंसर होने की संभावना होती है।

तीसरा दोष 

उत्तर पूर्व, पूर्व, उत्तर पश्चिम, ऊँचा होना और दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम दिशा का नीचा होना ब्रेन कैंसर दे सकता है। ऐसा कैंसर जल्दी ठीक भी नहीं होता है।

चौथा दोष

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की उत्तर दिशा हमेशा सही होनी चाहिए। लेकिन अगर यही ठीक ना हो तो कई सारे दोष उत्पन्न होते हैं। अगर घर की उत्तर पूर्व दिशा के साथ दक्षिण पूर्व दिशा में वास्तु दोष आ जाए तो यह सीने में कैंसर का कारण बना सकता है।

इसे भी पढ़ें: सुखी दाम्पत्य जीवन के लिए बेहद प्रभावशाली है यह मंत्र, जाप से खत्म होता है पति-पत्नी का झगड़ा

पांचवां दोष

उत्तर पूर्व दिशा और दक्षिण-पश्चिम व दक्षिण दिशा अगर दोषपूर्ण हों तो यूट्रस के कैंसर की सम्भावना होती है।

छठा दोष

उत्तर पूर्व दिशा दोषपूर्ण हो तो यह कैंसर बनाता है। इस दिशा के साथ अगर दक्षिण पश्चिम दिशा का कोई भाग या पूरी दक्षिण दिशा ही दोषपूर्ण हो, तो यह किडनी का कैंसर बनाता है।

सातवां दोष

उत्तर पूर्व दिशा के साथ अन्य भागों का दोषपूर्ण होना ब्लड कैंसर की संभावना देता है।

इसे भी पढ़ें: अद्भुत ! 'महिला' बन जाता है इस मंदिर में जाने वाला हर 'पुरुष'

आठवां दोष 

यह एक ऐसा दोष है, जिसके लिए गहराई से जांच करनी पड़ती है। कई बार घर के बीचो बीच गड्ढा होता है, लेकिन इसका पता घर वालों को नहीं चलता है। यह घर का मुख्य स्थान होता है, जो यदि खराब या यहां पर गन्दा पानी जमा रहता हो, तो यह पेट का कैंसर दे सकता है। इसके अलावा यह दोष घर का सुख-चैन भी छीन लेता है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
vastu dosh related to directions vastu dosh se hota hai cancer

-Tags:#Vastu shastra#Vastu Dosh#Cancer from vastu dosh#Vastu Advice
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo