Top

पति-पत्नी को इन 2 दिन भूलकर भी नहीं बनाने चाहिए शारीरिक संबध, पड़ता है ये नकारात्मक प्रभाव

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Dec 7 2017 6:48PM IST
पति-पत्नी को इन 2 दिन भूलकर भी नहीं बनाने चाहिए शारीरिक संबध, पड़ता है ये नकारात्मक प्रभाव

शास्त्रों के अनुसार स्त्री-पुरुष के बीच आकर्षण सृष्टि का अटल सत्य है। सृष्टि की रचना भी इसी इसी पवन मिलन और आकर्षण से संभव हुई है। इसलिए स्त्री और पुरुष का संगम धार्मिक, सामाजिक और पारिवारिक मान्यताओं के आधार पर पवित्र माना जाता है।

जो लोग धार्मिक मान्यताओं को समझते हैं उन्हें पता है कि विवाह से पहले संबंध बनाना निकृष्ट माना जाता है। वैसे तो विवाह के बाद स्त्री और पुरुष के बीच का संबंध बेहद शुभ और मान्यताओं के अनुकूल माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: राशि के अनुसार ये है साल 2018 का लक्की रंग, जो होगा बेहद भाग्यशाली साबित

लेकिन ब्रह्मवैवर्तपुराण पुराण के अनुसार दो दिन ऐसे हैं जिसके दौरान शारीरिक संबंध निषेध माना गया है। इस पुराण के अनुसार हम आपको ऐसे 2 दिनों के बारे में बता रहे हैं जिस दिन भूलकर भी संबंध नहीं बनाना चाहिए।

अमावस्या

शास्त्रों के अनुसार अमावस्या के दिन पति-पत्नी को एक दूसरे के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए। यह उनके विवाहित जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।

इसे भी पढ़ें: वास्तुशास्त्र: जेब में 'रूमाल' रखते वक्त भूलकर भी न करें ऐसी गलतियां, बिगड़ जाएंगे सभी बनते काम

पूर्णिमा 

इसके अलावा पूर्णिमा की रात भी विवाहित दंपत्ति को एक दूसरे से अलग ही रहना चाहिए।  

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
shastron ke anusar amavasya aur purnima ko nahi banana chahie sharirik sambadh

-Tags:#Amavasya#Purnima#Brahmavaivarta Puran Purana#Dharmashastra

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo