Breaking News
Top

इस एक काम को करने से कभी नहीं सताएगा शनि

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 19 2017 11:39AM IST
इस एक काम को करने से कभी नहीं सताएगा शनि

शनिवार 19 अगस्त के दिन शनि प्रदोष पर्व है। ज्योतिष की मानें तो, इस दिन शनि प्रदोष व्रत व पूजन से शनि के अशुभ प्रभाव से छुटाकारा मिलता है। इसके अलावा यह सभी दोषों का नाश भी करता है। शनि प्रदोष व्रत के दिन शिव की पूजा को भी बेहद लाभकारी माना गया है। 

ये भी पढ़ें- शनिवार की शाम पहनें ये अंगूठी, बचाएगी शनि के प्रकोप से

पूजन विधि

शनिदेव के चित्र के सामने तेल का दीपक जलाएं। अब इसके बाद लोहबान धूप दिखाएं, शमीपत्र चढ़ाएं, रेवड़ी का भोग लगाएं। इसके साथ ही बताए गए प्रभावी मंत्र 'ॐ शनैश्चराय नमः' का 108 बार जाप करने से हर तरह के शनिदोष से छुटकारा मिलता है।
 
इसके अलावा इस असरदार मंत्र का भी जाप कर सकते हैं- 'ॐ शमीपत्रप्रियाय नमः।' इसके बाद नीचे लिखे हुए दशरथ कृत शनि स्तोत्र का 11 बार पाठ करें।

मुहूर्त

शाम 7:10 से शाम 7:40 तक।
 

कृत शनि स्तोत्र

नम: कृष्णाय नीलाय शितिकण्ठनिभाय च। नम: कालाग्निरूपाय कृतान्ताय च वै नम: ॥1॥
नमो निर्मांस देहाय दीर्घश्मश्रुजटाय च। मो विशाल-नेत्राय शुष्कोदर भयाकृते ॥2॥ 
 
नम: पुष्कलगात्राय स्थूलरोम्णेऽथ वै नम:। नमो दीर्घायशुष्काय कालदष्ट्र नमोऽस्तुते ॥3॥
नमस्ते कोटराक्षाय दुर्निरीक्ष्याय वै नम:। नमो घोराय रौद्राय भीषणाय कपालिने ॥4॥
 
 
तपसा दग्धदेहाय नित्यं योगरताय च। नमो नित्यं क्षुधार्ताय अतृप्ताय च वै नम: ॥7॥
ज्ञानचक्षुर्नमस्तेऽस्तु कश्यपात्मज सूनवे। तुष्टो ददासि वै राज्यं रुष्टो हरसि तत्क्षणात् ॥8॥
 
देवासुरमनुष्याश्च सिद्घविद्याधरोरगा:। त्वया विलोकिता: सर्वे नाशंयान्ति समूलत: ॥9॥
प्रसाद कुरु मे देव वाराहोऽहमुपागत। एवं स्तुतस्तद सौरिग्र्रहराजो महाबल: ॥10॥
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
shaniwar ke 1 vishesh upay se shani dosh se mukti

-Tags:#Shanivaar#Shanidev#Shaniwar ke upay#Saturday Worship
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo