Breaking News
भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शम्मी के खिलाफ पति से विवाद मामले में कोर्ट ने जारी किया समनएयरफोर्स का MiG-21 क्रैश, पायलट लापता, करीब एक घंटे से जारी खोजबीनCM नीतीश कुमार ने बिहार में किन्नरों को सुरक्षा गार्ड बनाने को लेकर की बैठकपीएम मोदी पहुंचे संसद भवन, कहा- देशहित में बहस जरूरी, सार्थक बहस करे विपक्षशशि थरूर ने हिंदू 'पाकिस्तान राष्ट्र' के बाद 'हिंदू तालिबान' को लेकर दिया विवादित बयानकर्नाटकः बस स्टैंड में लड़कियों को छेड़ रहे थे, पुलिस ने 6 मनचलों को किया गिरफ्तारकेरलः भारी बारिश के कारण प्राइवेट और सरकारी स्कूल को बंद करने का निर्देशग्रेटर नोएडा हादसा: 6 मंजिला इमारत गिरने से अब तक 3 लोगों की मौत, NDRF की टीम पहुंची
Top

स्वप्न शास्त्र: यदि सपने में दिखे ये एक चीज, समझिए जल्द बनने वाले हैं मालामाल

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 27 2017 1:13PM IST
स्वप्न शास्त्र: यदि सपने में दिखे ये एक चीज, समझिए जल्द बनने वाले हैं मालामाल

सपने हमारे जीवन का अभिन्न अंग माने जाते हैं। स्वप्न शास्त्र के अनुसार कुछ सपने ऐसे होते हैं जो हमारे आसपास घूमते हैं। लेकिन कुछ सपने ऐसे होते हैं जो हमारे आने वाले जीवन के संकेत देते हैं।

सपनों की इस दुनियां को स्वप्न शास्त्र में विशेष महत्त्व दिया गया है। आज हम आपको एक ऐसे सपने के बारे में बता रहे हैं जिसे देखना बेहद शुभ माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: साप्ताहिक राशिफल: इन राशि वालों के लिए प्रमोशन और बदलाव के संकेत

सपने में गोबर देखना 

स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने में गोबर देखना किसानों और पशुपालकों के लिए बेहद शुभ माना जाता है। अगर जातक किसान या पशु पालक है तो उसके लिए ऐसा सपना फलदायक माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: कामशास्त्र: सुखी दाम्पत्य जीवन के लिए बेहद प्रभावशाली है यह मंत्र, जाप से खत्म होता है पति-पत्नी का झगड़ा

यह निकट भविष्य में पशुओं से लाभ होने की तरफ इंगित करता है। लेकिन अगर आप सपने में खुद को गोबर लगाकर नहाते हुए देखते हैं तो यह अशुभ और मान-सम्मान के हानि की निशानी माना जाता है। सपने में गोबर पर पांव रखते हुए या खुद को गोबर पर गिरते हुए देखना मनुष्य के पतन की ओर इशारा करता है। 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo