Breaking News
Top

सामुद्रिक शास्त्र: सिर के बालों में दिखे ये बदलाव, समझिए किस्मत बदलने वाली है

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 13 2017 6:24PM IST
सामुद्रिक शास्त्र: सिर के बालों में दिखे ये बदलाव, समझिए किस्मत बदलने वाली है

सामुद्रिक शास्त्र आदमी के अंग-लक्षणों के बारें में सटीक और सुदृढ़ जानकारी देता है। समुद्र शास्त्र में जिस प्रकार से शरीर के अन्य अंगों का विश्लेषण किया गया है ठीक उसी तरह सिर के बालों का भी शगुन और अपशगुन के बारे में विस्तार पूर्वक बतया गया है। ऐसे ही कुछ लक्षणों के बारे में हम आपको बता रहे हैं जिससे व्यक्ति के बदलते किस्मत के संकेत मिलते हैं। यह जानकर आपको बहुत हैरानी होगी कि बाल भी व्यक्ति के भविष्य को बयां कर सकता है।

सिर पर बाल कम होना

सर पर बल कम होना या गंजापन आना सामुद्रिक शास्त्र में धनी होने की निशानी माना गया है। यदि आपके सिर पर बाल कम होने लगे तो यह समझ लीजिए आने वाले वक्त में आपको धन को लेकर कोई बड़ी कामयाबी मिलने वाली है। 

इसे भी पढ़ें: हस्त रेखा: हथेली की जीवन रेखा पर बना ये निशान बताती है, कितने दिन जिंदा रहेंगे आप

सिर के बीच से बाल कम होना या पूरी तरह चला जाना यह दर्शाता है कि निकट भविष्य में आपको अच्छे धन लाभ होने वाले हैं। इतना ही नहीं धन आपके जीवन स्थाई तौर पर रहने वाला है। साथ ही ऐसे लोग सुखी-संपन्न जीवन व्यतीत करते हैं।

यदि सिर के बीच वाले भाग में बाल रहे और और दोने किनारे से बाल धीरे-धीरे कम होने तो इसका मतलब होता है कि आपको सफलता मिलेगी लेकिन देर से। इस सफलता और सम्मान का लाभ बहुत अधिक नहीं उठा पाते हैं। इसके अलावे इनके कमाए धन-संपत्ति और सम्मान का लाभ इनके परिवार को मिलता है। यह केवल एक पीढ़ी तक नहीं बल्कि आने वाली कई पीढ़ी को इसका लाभ मिलता रहता है।

इसे भी पढ़ें: दिवाली: इस दिवाली इन चीजों से सजाना न भूलें घर, लक्ष्मी बाहर से ही लौटकर चली जाएंगी

चमकीले और रूखे बाल 

बालों का रंग भी व्यक्ति के भविष्य के बारे में बताता है। बालों का रूखापन, उलझा हुआ और चमक विहीन होना आने वाली परेशानियों की ओर इशारा करता है। इसके उलट यदि बाल सिल्की हो तो सफलता और प्रसिद्धि दिलाता है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
samudrik shastra these changes seen in hair luck is going to change

-Tags:#samudrik shastra
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo