Top

सामुद्रिक शास्त्र: काम वासना में माहिर होते हैं, शरीर पर ऐसे बाल वाले लोग

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 25 2017 5:30PM IST
सामुद्रिक शास्त्र: काम वासना में माहिर होते हैं, शरीर पर ऐसे बाल वाले लोग

सामुद्रिक शास्त्र में व्यक्ति के रंग, चाल-ढाल और आवाज से भी उसके स्वभाव के बारे में बताया गया है। शास्त्र के अनुसार शरीर प्रत्येक भाग पर बना विशेष चिन्ह व्यक्ति की गतिविधि को बताता है।

समुद्र शास्त्र के मुताबिक हम आपको ये बता रहे हैं कि शरीर के बाल से व्यक्ति के किस गुण और स्वभाव का पता चलता है। 

इसे भी पढ़ें: 'शनि पंचक' 25 November: आज रात से शुरू, भूलकर भी न करें ये काम

शरीर पर अधिक बाल 

समुद्र शास्त्र के अनुसार जिस व्यक्ति के शरीर पर जन्म से ही अधिक बल होता है वह व्यक्ति काम वासना और भोग विलास को अधिक महत्व देने वाले माने जाते हैं। साथ ही ऐसे लोग खुले विचारों वाले होते हैं जिस कारण इनके कई दोस्त बनते हैं। 

छाती पर बाल 

जिन लोगों को छाती पर बाल होता हो वह संतोषी स्वभाव का होता है। ऐसे लोग अपनी दिनचर्या के हिसाब से अपना दिन बिताते हैं। इसके अलावे ऐसे लोगों को जीवन में धन की कमी नहीं होती है। 

इसे भी पढ़ें: राशि के अनुसार है ये भाग्यशाली वस्तु, रखने पर चमक जाएगी किस्मत

रोम हीन छाती 

जिस व्यक्ति की छाती पर जन्म से ही बाल नहीं होता है, वह बेशर्म और स्वार्थी प्रवृति का होता है। साथ ही ऐसे लोग विश्वास के लायक नहीं होते हैं। इतना ही नहीं ऐसे लोगों के जीवन में एक से अधिक लड़कियां होती हैं। ये लड़कियों को धोखा देने में भी माहिर होते हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
samudrik shastra ke lakshan chhati par bal ke lakshan

-Tags:#Samudrik shastra#Samudrik shastra ke lakshan#Kamshastra#Samudra shastra
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo