Breaking News
Top

राहु जब होता है विपरीत, फकीर बन जाता है व्यक्ति, लाल किताब के अनुसार कर लें ये उपाय

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 14 2017 11:37AM IST
राहु जब होता है विपरीत, फकीर बन जाता है व्यक्ति, लाल किताब के अनुसार कर लें ये उपाय

ज्योतिष की भाषा में राहु और केतु को छाया ग्रह कहा जाता है। लेकिन यह असल बात है कि छाया ग्रह भी अपना शुभ और अशुभ फल देने में देर नहीं लगती है। राहु-केतु जब किसी जातक की कुंडली में अच्छी स्थिति में रहते हैं तो व्यक्ति को राजयोग भी बन सकते हैं।

अगर किसी जातक की कुंडली में राहु की स्थिति सही नहीं है तो व्यक्ति को धनवान से फकीर तक बन जाता है। ज्योतिष में राहु को शांत करने के लिए बहुत सारे उपाय बताए गए हैं। लेकिन यह उपाय जातक की कुंडली में बन रहे योग के हिसाब से उपयुक्त बैठता है।

इसे भी पढ़ें: शनिदोष: अब शनि नहीं होंगे आप पर क्रूर, बस शनिवार को कर लें ये काम

लाल किताब के अनुसार राहु के उपाय

  1. यदि कुंडली में राहु अशुभ है तो हर बृहस्पतिवार के दिन मूली दान करें और कच्चे कोयले को चलते पानी में बहाएं।
  2. राहु के दुष्प्रभाव को को कम करने के लिए अपने पास चांदी का टुकड़ा रखें, इसके अलावा प्रत्येक दिन सूर्ख रंग की मसूर दाल को सफाई कर्मचारियों को दान करें।
  3. यदि आपकी कुंडली में राहु बीमारी के लिए जिम्मेदार है तो वजन के अनुसार जौ (यव) को बहते पानी में प्रवाहित करें या फिर किसी गरीब को दान करें। 
  4. राहु की शांति के लिए उड़द की दाल, कपड़े, सरसों, कोई काला फूल, राई, तेल, कुल्फी आदि को अपनी क्षमता के अनुसार गरीबों को दान करें। ऐसा करने से आपको अपने सभी कष्टों से छुटकारा मिलेगा। शनिवार को राहु का दिन कहा गया है, इसलिए यह दान शनिवार को ही करें तो बेहतर होगा।
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
rahu remedy according to lal kitab

-Tags:#rahu grah#astrology
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo