Breaking News
Top

'पूजा-पाठ' में भूलकर भी ना करें इस चीज प्रयोग, वरना हो सकता है आपके वंश का समूल नाश

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 14 2017 5:51PM IST
'पूजा-पाठ' में भूलकर भी ना करें इस चीज प्रयोग, वरना हो सकता है आपके वंश का समूल नाश

हिन्दू धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्व है। पूजा-पाठ के दौरान प्रायः लोग अगरबत्ती,धूप आदि का प्रयोग करते हैं। लोग पूजा के समय निश्चित रूप से धूप दीप और अगरबत्ती आदि जलाते हैं। शायद इस बात की जानकारी बहुत कम लोगों को है कि पूजा-पाठ के दौरान धूप का प्रयोग करना तो उचित है, लेकिन अगरबत्ती का प्रयोग करना बहुत अशुभ होता है। दरअसल शास्त्रों में अगरबत्ती पूजा-पाठ के समय अगरबत्ती जलाना बिल्कुल निरीह माना गया है। पूजा-पाठ से जुड़ी एक ऐसी ही रोचक तथ्य हम आपको बता रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें:तुलसी का पत्ता और 5 रुपए का सिक्का, बदल देगा आपका सोया भाग्य, बस करना है ये

अगरबत्ती का प्रयोग 

शायद आप जानते होंगे अगरबत्ती की स्टिक बांस की बनी होती है। बांस की लकड़ी को हिन्दू धर्म में अछूत माना गया है। इतना ही नहीं बांस का दाह-संस्कार के लिए भी नहीं करते हैं। हाँ चिता को शमशान तक ले जाने के लिए किया जाता है लेकिन इसका प्रयोग जलाने में नहीं किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: 'मेष' राशि के जातकों के लिए ऐसा रहेगा 2018, होंगे ये बड़े बदलाव

इस स्थिति में जब बांस का प्रयोग दाह संस्कार में भी नहीं किया जाता है तो पवित्र पूजा-पाठ में कैसे कर सकते हैं। इसके अलावा पूर्वजों का भी ऐसा कहना होता रहा है कि बांस को जलने से वंश में वृद्धि नहीं होती है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
puja path mein agarbatti ke prayog ke nuksan

-Tags:#Hindu Religion#Worship#Worship Method#Incense Sticks in Worship
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo