Breaking News
Top

पापमोचनी एकादशी: आज ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा, जीवन भर बनी रहेगी सुख-समृद्धि

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Mar 13 2018 10:26AM IST
पापमोचनी एकादशी: आज ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा, जीवन भर बनी रहेगी सुख-समृद्धि

पापमोचनी एकादशी पर व्रत रखने और भगवान विष्णु के पूजा विधिपूर्वक करने से पूर्व में किए समस्त पाप कट जाते हैं। पापमोचनी एकादशी भगवान विष्णु को समर्पित है।

शास्त्रों के अनुसार इस दिन विष्णु जी की आराधना, जन्म-जन्मांतर के पापों से मुक्ति दिलाती है। इतना ही नहीं पापमोचनी एकादशी का व्रत रखने से सुख, समृद्धि और मोक्ष की प्राप्ति होती है। 

हिन्दू पंचांग के अनुसार पापमोचनी एकादशी चैत्र कृष्णपक्ष एकादशी को पड़ती है। इस माह पापमोचनी एकादशी 13 मार्च 2018 (मंगलवार) यानि आज है। पापमोचनी एकादशी 12 से 13 मार्च तक होगी। क्योंकि 12 मार्च ही द्वादशी तिथि पड़ जा रही है। एकादशी तिथि 12 मार्च को 11 बजकर 13 मिनट से लेकर 13 मार्च को 1 बजकर 41 मिनट तक है।

इसे भी पढ़ें: पापमोचनी एकादशी 2018: ऐसे मिलेगी कर्जों से मुक्ति, भूलकर भी ना करें ये 5 काम

पापमोचनी एकादशी व्रत पूजा विधि (Papmochni Ekadasi Vrat Puja Vidhi)

पापमोचनी एकदशी का व्रत कठिन माना जाता है। क्योंकि यह दो दिन किया जाता है। पापमोचनी एकादशी के व्रत में व्रती दशमी तिथि को सात्विक भोजन करके हरि भजन में मन लग जाता है।

शास्त्रीय मान्यता है कि इस व्रत को करते समय भोग विलास के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। अगले दिन यानी एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: साप्ताहिक राशिफल: इस 1 राशि के लिए धन-लाभ के भरपूर अवसर, जानिए अपनी राशि की स्थिति

व्रत करने के बाद विष्णु पूजा करनी चाहिए। पापमोचनी एकादशी की पूजा में भगवान विष्णु की मूर्ति के पास बैठकर भगवद गीता का पाठ करना अत्यंत लाभदायक माना गया है। द्वादशी के दिन स्नान-पूजा के बाद ब्राहमण भोजन कराना उत्तम माना गया है।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo