Breaking News
Top

दुर्गा सप्तशती का पांच सबसे प्रभावशाली मंत्र

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 26 2017 8:45PM IST
दुर्गा सप्तशती का पांच सबसे प्रभावशाली मंत्र

नवरात्रि में यदि दुर्गा सप्तशती के मंत्रों का जाप यदि सही तरीके से किया जाए तो उसका फल अवश्य मिलता है। दुर्गा सप्तशती में कुछ ऐसे मंत्र हैं जिसका विधि-विधान से किया जाए तो हर प्रकार की समस्या का समाधान हो जाता है। 

दुर्गा सप्तशती में हर समस्या के लिए एक विशेष मंत्र है। ये मंत्र बहुत ही जल्दी असर दिखाते हैं, यदि आप मंत्रों का उच्चारण ठीक से नहीं कर सकते तो किसी योग्य ब्राह्मण से इन मंत्रों का जाप करवाएं।

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि 2017: माता शैलपुत्री को चढ़ाएं ये भोग, दूर होंगे सभी दुःख

हम आज आपको कुछ ऐसे पांच मन्त्रों के बारे में बता रहे हैं जिसका सही उच्चारण के साथ पाठ करने पर प्रायः सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान हो जाता है।
 

रक्षा हेतु

शूलेन पाहि नो देवि पाहि खड्गेन चाम्बिके।

घण्टास्वनेन न: पाहि चापज्यानि:स्वनेन च।।

सुंदर पत्नी हेतु

पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम्।

तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम।।

गरीबी हटाने हेतु

दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तो:

स्वस्थै: स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि।

दारिद्रयदु:खभयहारिणि का त्वदन्या

सर्वोपकारकरणाय सदाद्र्रचिता।।

रोग नाश हेतु

रोगानशेषानपहंसि तुष्टा

रुष्टा तु कामान् सकलानभीष्टान्।

त्वामाश्रितानां न विपन्नराणां

त्वामाश्रिता ह्याश्रयतां प्रयान्ति।।

विपत्ति नाश के लिए मंत्र

देवि प्रपन्नार्तिहरे प्रसीद

प्रसीद मातर्जगतोखिलस्य।

प्रसीद विश्वेश्वरी पाहि विश्वं

त्वमीश्वरी देवि चराचरस्य।।

 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo