Breaking News
Top

महाकाल के ज्योतिर्लिंग का घट रहा है आकर ये है वजह

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 27 2017 7:47PM IST
महाकाल के ज्योतिर्लिंग का घट रहा है आकर ये है वजह

मध्यप्रदेश के उज्जैन में स्थित महाकालेश्वर के ज्योतिर्लिंग का आकर घट रहा है। यह ज्योतिर्लिंग प्रमुख बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। जिनके दर्शन और पूजा से अकाल मौत नहीं आती है। 

इसे भी पढ़ें:हस्तरेखा शास्त्र: हथेली में बेहद खास है शनि पर्वत, अगर ये हुआ ऊंचा तो होगा बड़ा भयानक नुकसान

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि शिवलिंग पर जल, दूध, घी, शहद के अभिषेकों और गुड़, शक्कर आदि के पाउडर की रगड़ उन पर नुकसान पहुंचा रही है। जिस कारण शिवलिंग का आकार क्रमशः छोटा होता जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: ज्योतिष शास्त्र: इन तीन राशियों के लोग होते हैं सबसे बुरे पति

 

भारतीय पुरातत्व विभाग ने ज्योतिर्लिंग और मंदिर प्रांगण के संरक्षण के लिए दो रिपोर्ट तैयार किया है। जिसमें ज्योतिर्लिंग से जुड़ी रिपोर्ट में उत्तराखंड, देहरादून एएसआई शाखा के निदेशक (विज्ञान) डॉ. वीके सक्सेना ने 13 सिफारिशें की हैं। इसमें जल, गंगाजल या अभिषेक के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले पानी पर रोक लगाकर न्यूनतम स्तर पर लाने को कहा है। 

  • अभिषेक में दूध-दही के प्रयोग पर लगे रोक-

पुरातत्व विभाग की ओर से कहा गया है कि दूध और उससे बने अन्य पदार्थों जैसे दही, घी और शहद, चंदन, भांग, अबीर, गुलाल, कुमकुम के प्रयोग पर रोक लगा दी जानी चाहिए। क्योंकि इन पदार्थों में नुकसानदेह रसायन होते हैं। प्रतीकात्मक और पारंपरिक मौकों पर एक दिन इनका प्रयोग सुनिश्चित किया जा सकता है।

 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
mahakals jyotirlinga is decreasing

-Tags:#महाकाल#ज्योतिर्लिंग
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo