Top

कूर्म पुराण: इन 8 की तरफ नहीं करें पांव, बदकिस्मती कभी नहीं छोड़ेगी पीछा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Dec 1 2017 11:16AM IST
कूर्म पुराण: इन 8 की तरफ नहीं करें पांव, बदकिस्मती कभी नहीं छोड़ेगी पीछा

हिन्दू धर्म में बचपन से ही कहा जाता है कि किसी धर्म स्थल की ओर पांव नहीं करना चाहिए। साथ ही भगवान की मूर्ति ओर या अन्य किसी पवित्र वस्तु की ओर पैर करने से पाप लगता है। इसके अलावे भी बहुत सी ऐसी वस्तुएं हैं जिनकी ओर पांव नहीं करना चाहिए।

अठारह पुराणों में कूर्ण पुराण खास महत्व का है। कूर्म पुराण में ऐसी 8 वस्तुओं का उल्लेख किया गया है जिसकी ओर पांव करने से व्यक्ति के जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वे 8 वस्तुएं कौन-कौन सी है इसका उल्लेख एक श्लोक के माध्यम से किय गया है। जिसमें देवता, अग्नि, गाय, ब्राह्मण, विप्र, गुरु, सूर्य और चन्द्र का जिक्र किया गया है। हम आपको विस्तार से इसका वर्णन कर बता रहे हैं। 

देवता 

कूर्म पुराण के अनुसार किसी भी स्थिति में देवता की ओर पैर करना निषेध माना गया है। मनुष्य को कभी भी उस स्थान की ओर पैर नहीं करना चाहिए जहां देवताओं की मूर्ति स्थापित हो। 

इसे भी पढ़ें: 1 दिसंबर के राशिफल में जानिए क्या शुभ और अशुभ होगा, राशि के अनुसार ये है शुभ रंग और अंक

गाय 

गाय को हिन्दू धर्म में पूज्य माना गया है। क्योंकि गाय में सभी देवी-देवताओं का वास होता है। इसलिए उनकी ओर पांव करना सभी देवताओं का अपमान माना जाता है। 

ब्राह्मण

ऋग्वेद के अनुसार ब्राह्मणों की उत्पत्ति भगवान विष्णु के मुख से हुई है। इसलिए ब्राहमण की ओर पांव करना स्वयं विष्णु का पमान माना जाता है। 

विप्र 

वेदों की पढाई करने वाले ब्राहमण बालक को विप्र कहा जाता है। कूर्म पुराण के अनुसार जो लोग इनकी ओर पैर करते हैं वे पाप के भागी होते हैं। इसलिए इनकी ओर पैर करने से बचना चाहिए। 

अग्नि 

अग्नि को देवताओं का मुख स्वरुप माना गया है। ऐसा माना जाता है कि यहीं से अग्नि प्रज्जवलित होती है। इसलिए अग्नि की ओर पैर करना अग्नि देव का अपमान माना जाता है। 

गुरु 

गुरु के सानिध्य में ही व्यक्ति को ज्ञान की प्राप्ति होती है। गुरु के द्वारा प्राप्त ज्ञान से ही व्यक्ति के अज्ञान का अंधकार दूर होता है। इसलिए गुरु की ओर पैर नहीं करना चाहिए। 

सूर्य 

सूर्य केवल पांच देवताओं में से एक नहीं है बल्कि अनंत उर्जा का प्रमुख स्रोत भी है। हिन्दू धर्म में सूर्य को ही प्रत्यक्ष देव माना गया है। किसी भी पूजा में सूर्य की पूजा आवश्यक मानी जाती है। इसलिए सूर्य की ओर पैर नहीं करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: ज्योतिष शास्त्र: इन राशियों के जातक होते हैं अत्यंत भाग्यवान, क्या आपका नाम है इसमें शामिल

चंद्रमा 

चन्द्रमा को भी प्रत्यक्ष देवता कहा गया है। सभी वनस्पतियों का स्वामी भी चंद्रमा को ही माना गया है। इसलिए इनकी ओर पैर नहीं करना चाहिए। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
kurm purana ke anusar in 8 aath kee taraph nahin karen paanv

-Tags:#Purana#kurm purana#rigveda#kiski taraf pair nahi karne chahiye
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo