Breaking News
Top

मरते वक्त हिंदू रखते हैं मुंह में तुलसी-गंगाजल और मुसलमान रखते हैं आबे जमजम

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 12 2017 3:16PM IST
मरते वक्त हिंदू रखते हैं मुंह में तुलसी-गंगाजल और मुसलमान रखते हैं आबे जमजम

जिस प्रकार हिंदू धर्म में किसी व्यक्ति को मृत्यु के समय में उसके मुंह में गंगाजल डालना व तुलसी के पत्ते रखना शुभ माना जाता है उसी प्रकार से इस्लाम में एक ऐसा जल है जिसे व्यक्ति की मौत के समय उसके मुंह में डाला जाता है।

ये भी पढ़ें- जानिए, अज़ान करते वक्‍त, क्या करना चाहिए और क्या नहीं

दरअसल हिंदू धर्म में गंगाजल को पवित्र मानते हैं ऐसा माना जाता है कि अपनी जिंदगी की आखिरी सांसे गिन रहे व्यक्ति के मुंह में गंगाजल या तुलसी का पत्ता डाल दिया जाए तो उसके सारे पाप धुल जाते हैं। यहां तक कि उसे स्वर्ग की प्राप्ति भी हो सकती है। 
 
ठीक इसी प्रकार से इस्लाम में एक जल को पवित्र माना जाता है जो आमतौर पर मिलने वाले पदार्थों में से अलग है। इसे आब-ए-जमजम (आबे जमजम) के नाम से जाना जाता है।
 
 
इस्लाम में ये जल हिंदू धर्म के गंगाजल की तरह पवित्र माना जाता है। यह मुस्लिमों के पवित्र स्थल मक्का (सऊदी अरब) का एक कुआं है। यह पवित्र जगह काबा के पास स्थित है।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
know the interesting facts about islam holy jamjam

-Tags:#Ab a Jajam#Jamjam#Islam Religion#Holy Gangajal#Makka Madina

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo