Top

वास्तु शास्त्र: 'किचन' का ये वास्तु टिप्स घर में लाएगी खुशहाली

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 4 2017 3:33PM IST
वास्तु शास्त्र: 'किचन' का ये वास्तु टिप्स घर में लाएगी खुशहाली

वास्तुशास्त्र पर लोग बहुत अधिक भरोसा रखते हैं। चाहे घर बनवाना हो या घर की मरम्मत करवाना हो, सभी जगह वास्तुशास्त्र का विशेष महत्व माना गया है। खासकर किचन में वास्तु का खास महत्व देखा गया है। वास्तु के अनुसार किचन के लिए अच्छा जगह दक्षिण-पूर्व होता है। इसके अलावे उत्तर-पश्चिम के कोना में भी किचेन का बनवाना अच्छा रहता है। आज हम आपको बता रहे हैं कि वास्तु के मुताबिक किचेन में कौन सा सामान कहां रखें। 

  • किचन में चूल्हे का जगह ऐसा होना चाहिए जिससे खाना बनाने वाले का चेहरा पूरब दिशा की ओर हो। साथ ही किचेन का सिंक उत्तर और पूरब की दिशा से बिलकुल अलग होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: वास्तुशास्त्र: ऐसे न रखें घर में एक्वेरियम वरना झेलेंगे आर्थिक तंगी

  • वास्तु के अनुसार किचन में ओवन इत्यादि बिजली उपकरण अग्नि कोण (दक्षिण-पूरब) में होने चाहिए।
  • वास्तु के अनुसार किचेन में फ्रीज दक्षिण और पश्चिम के दिशा में रखना अच्छा माना माना गया है।
  • गैस चूल्हे के ऊपर सामान रखने के लिए अलमारियां नहीं होनी चाहिए। क्योंकि गैस के ठीक ऊपर आलमारियों का होना वास्तु दोष माना गया है।

इसे भी पढ़ें: ये पांच आदतें आपको बना देगी कंगाल

  • किचन की दीवार से बिलकुल सटाकर या इसके ऊपर या फिर नीचे सटाकर बाथरूम नहीं होना चाहिए। ऐसा होना भी वास्तु दोष के अंतर्गत आता है।
  • किचन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा प्लेटफार्म हमेशा पूर्व में होना चाहिए और ईशान कोण (पूरब-उत्तर) में सिंक व अग्नि कोण चूल्हा लगाना चाहिए।
  • किचन के दक्षिण में कभी भी कोई दरवाजा या खिड़की नहीं होना चाहिए।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo