Breaking News
Top

आ रही है कृष्ण जन्माष्टमी, अधूरी इच्छा कर लें पूरी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 9 2017 3:32PM IST
आ रही है कृष्ण जन्माष्टमी, अधूरी इच्छा कर लें पूरी

भाद्रपद की अष्टमी को रात्रि के 12 बजे मथुरा नगरी के कारावास में भगवान कृष्ण ने देवकी के गर्भ से जन्म लिया था। भगवान विष्णु के सभी अवतारों में से श्रीकृष्ण एकमात्र ऐसे अवतार थे जो 16 कलाओं में निपुण थे। 

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव का पर्व मनाया जाएगा। इस बार जन्माष्टमी का पर्व 14 अगस्त को मानाया जाएगा। 14 अगस्त का ये दिन इसलिए और खास बन जाता है क्योंकि इस बार इस दिन पर रोहिणी नक्षत्र है। 

इस व्रत में सप्तमी सहित अष्टमी का ग्रहण निषिद्धि है, शास्त्रों के अनुसार -

आइए अब जानते हैं भगवान कृष्ण के कुछ मनोरथ पूर्ण करने वाले मंत्र -

“कृं कृष्णाय नमः”

यह कृष्ण का मूलमंत्र है जिसके जाप से व्यक्ति का अटका हुआ धन प्राप्त होता है। घर-परिवार में हमेशा सुख-संपदा बनी रहती है।

“गोवल्लभाय स्वाहा”

सभी मंत्रों में यह मंत्र सबसे ज्यादा असरदार है। इस मंत्र के उच्चारण के समय में एक भी अक्षर में गलती नहीं करनी चाहिए। ऐसा होने से इसका असर खत्म हो जाता है।

“गोकुल नाथाय नमः”

आठ अक्षरों के इस मंत्र का जो भी जाप करता है उसकी सभी इच्छाएं और मनोकामनाएं भगवान श्री कृष्ण की कृपा से पूर्ण होती हैँ।
 
इन मंत्रों का जाप करने के लिए जन्माष्टमी के दिन सुबह-सवेरे स्नानादि से निवृत्त होकर पीले वस्त्र धारण करें। तत्पश्चात भगवान कृष्ण के समक्ष घी का दीपक जलाएं व उत्तर दिशा की ओर मुंह करके बताए गए मंत्रों का जाप करें।
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
janmashtami 2017 special mantra get blessing of krishna

-Tags:#Lord Krishna#Janmashtami 2017#Janmashtami Special#Krishna Janmashtami
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo