Breaking News
Top

यहां आज भी खुले आसमान के नीचे होती है रामलीला

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 6 2017 3:21PM IST
यहां आज भी खुले आसमान के नीचे होती है रामलीला

देश की धार्मिक एवं सांस्कृतिक नगरी वाराणसी में एक महीने तक चलने वाली 234 साल पुरानी विश्व प्रसिद्ध रामलीला आज यानि बुधवार की रात से शुरू होगी। इस ऐतिहासिक धार्मिक आयोजन का गवाह बनने के लिए आम लोगों के अलावा हजारों की संख्या में देश-विदेश के साधु-संत एवं पर्यटक रामलीला नगरी पहुंच रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: राम को लगा था रावण की हत्या का पाप, ऐसे किया प्रायश्चित

यह रामलीला विश्व में एकलौता आयोजन है जिसमें आधुनिक चकाचौंध से दूर प्राचीन धार्मिक परंपराओं को निभाने के साथ ही पर्यावरण की रक्षा का संदेश देता है। यहां रोशनी के लिए न तो बिजली का इस्तेमाल किया जाता है और न ही कलाकारों की आवाज बढ़ाने के लिए लाउडस्पीकर या किसी अन्य आधुनिक यंत्र का। 

इस कार्यक्रम में कलाकार मशाल की रोशनी में अपनी कलाकारी का जलवा बिखेरते हैं। इसके अलावे कलाकार अपनी खुद की आवाज के दम पर साधारण मंचों पर रामलीला का मंचन करते हैं।

इसे भी पढ़ें: यहां बिताया था राम ने अपना 14 वर्षों का वनवास

ये है इस रामलीला की विशेषता-

खुले आसमान के नीचे लगभग 4 किलोमीटर क्षेत्र के दायरे में फैले एक दर्जन कच्चे एवं पक्के मंचों के माध्यम से यहां अयोध्या, जनकपुर, चित्रकूट, पंचवटी, लंका और रामबाग जाते हैं। इस रामलीला के मंचन में लड़कियां हिस्सा नहीं लेती है और उनकी भूमिका में लड़के ही रहते हैं। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
here even today ramleela staging under the open sky

-Tags:#Cultural Nagari#Varanasi#Ram Leela#Ramnagar#Ayodhya#Janakpur
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo