Breaking News
Top

हस्तरेखा शास्त्र: हथेली का बुध पर्वत है ऐसा तो कोई नहीं रोक सकता आपकी उन्नति और सफलता

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 3 2017 11:54AM IST
हस्तरेखा शास्त्र: हथेली का बुध पर्वत है ऐसा तो कोई नहीं रोक सकता आपकी उन्नति और सफलता

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हथेली की रेखाओं और पर्वतों का बहुत अधिक महत्व होता है। ज्योतिषी इन्हीं रेखाओं और पर्वतों को देखकर शुभ और अशुभ फल के बारे में बताते हैं। यदि आपकी हथेली के पर्वतों और रेखाओं की स्थिति ठीक नहीं है तो भविष्य में इसके बुरे प्रभाव पड़ते हैं।

इसे भी पढ़ें: हथेली की जीवनरेखा पर बना है ये निशान तो समझिए विदेशों में भी कमाएँगे अकूत संपत्ति

बुध पर्वत और हर्षल भाग 

हथेली का एक पर्वत बुध पर्वत के नाम से जाना जाता है। यह पर्वत हथेली की छोटी उंगली से लेकर हृदय रेखा और मस्तिष्क रेखा के बीच का स्थान होता है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार यह क्षेत्र यदि कुल मिलाकर बैलेंस रूप में उन्नत हो तो व्यक्ति विज्ञानं क्षेत्र से लगाव रखते हैं। यानि जिसकी हथेली में यह भाग ठीक स्थिति में रहता है वह व्यक्ति कंप्यूटर, तकनीक  इत्यादि से जुड़े क्षेत्रों में बेहतर तरक्की हासिल करते हैं।

इसे भी पढ़ें: हस्तरेखा शास्त्र: हथेली में है ये रेखा तो सरकारी नौकरी मिलने से कोई रोक नहीं सकता

इसके अलावे ऐसे लोगों को धन और सम्मान के क्षेत्र में आम लोगों से अधिक सफलता मिलती है। सबसे अधिक सफलता और उन्नति तब मिलती है जब इस क्षेत्र से कोई रेखा निकलकर सूर्य पर्वत पर जाती है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति विज्ञान के क्षेत्र में आपर सफलता हासिल करते हैं। वैज्ञानिक बनते हैं और आविष्कारों में बहुत अधिक प्रसिद्धि पाते हैं।

यदि बुध पर्वत से निकलकर कोई रेखा मंगल पर्वत पर जाए तो ऐसा व्यक्ति की सफलता और उन्नति का ठिकाना नहीं रहता है। लेकिन यहां से कोई रेखा निकलकर बुध पर्वत पर जा रही हो तो ऐसा व्यक्ति बहुत शातिर दिमाग और अपराधी प्रवृति का होता है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
hast rekha shastra ke anusar hathelee ka budh parvat

-Tags:#Palmistry#Mercury of palm#Heart line#Brain line
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo