Breaking News
Top

गुरु-पुष्य योग: इस विशेष दिन को बना 'गुरु-पुष्य' शक्तिशाली योग, शनि की दशा को भी करेगा इस तरह प्रभावित

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 6 2017 10:06AM IST
गुरु-पुष्य योग: इस विशेष दिन को बना 'गुरु-पुष्य' शक्तिशाली योग, शनि की दशा को भी करेगा इस तरह प्रभावित

गुरु-पुष्य के शक्तिशाली योग का ज्योतिष में बहुत महत्व है। गुरु-पुष्य महायोग एक ज्योतिषीय योग है। इस दौरान गुरु ग्रह का पुष्य नक्षत्र में प्रवेश होता है। यह महायोग साल में बहुत कम समय ही आता है। ज्योतिषीयों का मानना है कि इस शुभ संयोग को यदि सही इस्तेमाल में लाया जाए तो मन की हर इच्छा पूरी होती है।

गुरु-पुष्य का यह महायोग इस साल 9 नवम्बर को बनने जा रहा है। यह संयोग जब गुरूवार को बनता है तो इसका महत्व और अधिक हो जाता है। देवगुरु बृहस्पति का पुष्य नक्षत्र में आने से यह समय अत्यंत प्रभावशाली माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: 'शनि' और 'मंगल' हुए आमने-सामने, जानिए कैसे प्रभावित करेगा आपकी राशि को

गुरु-पुष्य नक्षत्र महत्व 

ज्योतिषी धनंजय पाण्डेय के अनुसार गुरु-पुष्य नक्षत्र बहुत कम बनता है। जब पुष्य नक्षत्र गुरुवार के दिन इस राशि में प्रवेश करता है तब इस योग का निर्माण होता है। यह योग एक साधक के लिए बेहद शुभ माना जाता है लेकिन अन्य लोग भी इस योग के लाभ पा सकते हैं।

देव गुरु बृहस्पति की आराधना

इस गुरु-पुष्य नक्षत्र में बृहस्पति देव की आराधना के साथ-साथ महालक्ष्मी की आराधना भी लाभकारी माना गया है। ऐसा माना जाता है कि धन की देवी इस महायोग में भक्त के हरेक मनोकामना पूर्ण करती हैं। साथ ही इस नक्षत्र में किसी भी प्रकार की पूजा का फल अत्यंत शुभ होता है। इस साल यह गुरु-पुष्य नक्षत्र 9 नवंबर की दोपहर 1:39 से लेकर अगले दिन सूर्योदय तक रहेगा।

इसे भी पढ़ें: ज्योतिष शास्त्र: शुक्र का कन्या राशि में गोचर, इन रशियों की बदलेगी किस्मत, ये 2 राशियां झेलेंगे मुश्किल

गुरु पुष्य नक्षत्र के लाभ

ज्योतिषी धनंजय पाण्डेय के अनुसार इस गुरु-पुष्य महायोग में योग में शनि की महादशा रहेगी। कुंभ लग्न का उदय होगा और चंद्रमा कर्क राशि पर राहु के साथ रहेंगे। इसके अलावे सूर्य और बृहस्पति भी उच्च स्थान पर होंगे। इस कारण राजयोग का निर्माण होगा। जिन जातकों की शनि की दशा चल रही है उन्हें अच्छा प्रभाव मिलेगा। इस योग में तंत्र विद्या से संबंधित शक्तियां भी जागृत की जाती है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo