Breaking News
Top

दशहरा 2017: यही हैं वो 5 जगहें, जहां होती है रावण की पूजा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 28 2017 5:29PM IST
दशहरा 2017: यही हैं वो 5 जगहें, जहां होती है रावण की पूजा

देश के पांच राज्य ऐसे हैं जहां रावण की पूजा की जाती है। दशहरा के दिन आमतौर पर रावण दहन किया जाता है। दशहरा पर रावण दहन का कार्यक्रम प्रायः देश के सभी भागों में मनाया जाता है। 

  •  कर्नाटक

कर्नाटक के कोलार जिले में लोग फसल महोत्सव के दौरान रावण की पूजा करते हैं। इस लंकेश्वर महोत्सव के मौके पर भव्य जुलूस भी निकला जाता है। यहाँ लोग रावण की पूजा इसलिए करते हैं क्योंकि वह भगवान शिव का परम भक्त था। इस राज्य के मंडया जिले के मालवल्ली तहसील में रावण का एक मंदिर भी है। 

  • विदिशा 

मध्यप्रदेश के विदिशा जिले में एक गांव है, जहां राक्षसराज रावण का मंदिर बना हुआ है। यहां रावण की पूजा होती है। मध्यप्रदेश में यह रावण का पहला मंदिर था। यहां के मंदसौर जिले में भी रावण की पूजा की जाती है। मंदसौर नगर के खानपुरा क्षेत्र में 'रावण रूण्डी' नाम के स्थान पर रावण की विशाल मूर्ति है। मान्यता के अनुसार रावण दशपुर (मंदसौर) का दामाद था। रावण की पत्नी मंदोदरी मंदसौर की रहने वाली थीं। ऐसा माना जाता है कि मंदोदरी के नाम पर ही दशपुर का नाम मंदसौर पड़ा।

इसे भी पढ़ें: जानिए क्यों महिलाओं को नहीं फोड़ना चाहिए 'नारियल'

  • कानपुर 

उत्तरप्रदेश के शहर कानपुर में रावण का एक बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है। कानपुर के शिवाला इलाके के दशानन मंदिर में शक्ति के प्रतीक के रूप में रावण की पूजा होती है। यहाँ भक्त तेल के दिए जलाकर रावण से अपनी मन्नतें मांगते हैं। ऐसा भी कहा जाता है कि रावण के इस मंदिर को साल में केवल एक बार दशहरे के दिन खोला जाता है। दशहरे पर रावण के दर्शन के लिए इस मंदिर में भक्तों की भीड़ लगी रहती है।

  • राजस्थान

जोधपुर जिले के मन्दोदरी नाम के क्षेत्र को रावण और मन्दोदरी का विवाह स्थल माना जाता है। जोधपुर में रावण और मन्दोदरी के विवाह स्थल पर आज भी रावण की चवरी नामक एक छतरी मौजूद है।

इसे भी पढ़ें: शनि की क्रूर दृष्टि से बचाएंगे हनुमान, शनिवार को कर लें ये काम

  • हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में शिवनगरी के नाम से मशहूर बैजनाथ कस्बा है। यहां के लोग रावण का पुतला जलाना महापाप मानते हैं। यहां रावण की पूरी श्रद्धा के साथ पूजा-अर्चना की जाती है। मान्यता है कि यहां रावण ने कुछ साल बैजनाथ में भगवान शिव की तपस्या कर मोक्ष का वरदान प्राप्त किया था।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
dussehra 2017 this is the 5 places where ravana is worshiped

-Tags:#Dussehra 2017#Vijaya Dashmi 2017#Lord Ram#Ravana#Vidisha#Karnataka
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo