Hari Bhoomi Logo
रविवार, सितम्बर 24, 2017  
Top

पंचक 2017: भूलकर भी न करें ये काम वरना होगा भारी नुकसान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 5 2017 3:16PM IST
पंचक 2017: भूलकर भी न करें ये काम वरना होगा भारी नुकसान

भारतीय ज्योतिष में पंचक को अशुभ माना गया है। पंचक के दौरान कुछ खास काम करना अच्छा नहीं माना गया है। इस साल 4 सितंबर की रात 11:55 से पंचक शुरू होगा और 9 सितंबर की दोपहर 01:02 तक रहेगा। हम आपको बता रहे हैं कि पंचक कितने प्रकार का होता है और इसमें कौन-कौन से काम नहीं करना चाहिए।

सोमवार को शुरू होने वाला पंचक राज पंचक कहलाता है। यह पंचक शुभ माना जाता है। इसके प्रभाव से इन पांच दिनों में सरकारी कामों में सफलता मिलती है। राज पंचक में संपत्ति से जुड़े काम करना भी शुभ रहता है।

इसे भी पढ़ें: अगर चाहिए अच्छा पति, तो शुक्रवार को करें ये काम

मंगलवार को शुरू होने वाला पंचक अग्नि पंचक कहलाता है। इन पांच दिनों में कोर्ट कचहरी और विवाद आदि के फैसले, अपना हक लेने वाले काम कर सकते हैं। इस पंचक में अग्नि का भय होता है। इस पंचक में किसी भी तरह का निर्माण कार्य, औजार और मशीनरी कामों की शुरुआत करना अशुभ माना गया है।

शनिवार को शुरू होने वाला पंचक मृत्यु पंचक कहलाता है। यह पंचक मृत्यु के बराबर परेशानी देने वाला होता है। इन पांच दिनों में किसी भी तरह के जोखिम भरे काम नहीं करना चाहिए। इसके प्रभाव से विवाद, चोट, दुर्घटना आदि होने का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़ें: ब्रह्मचारी नहीं थे हनुमान! मजबूरी में करनी पड़ी थी शादी

शुक्रवार को शुरू होने वाला पंचक चोर पंचक कहलाता है। पंडितों के अनुसार इस पंचक में यात्रा करने की मनाही है। इस पंचक में लेन-देन, व्यापार और किसी भी तरह के सौदे भी नहीं करने चाहिए। ऐसा करने से धन हानि हो सकती है।

इसके अलावा बुधवार और गुरुवार को शुरू होने वाले पंचक में ऊपर दी गई बातों का पालन करना जरूरी नहीं माना गया है। इन दो दिनों में शुरू होने वाले दिनों में पंचक के पांच कामों के अलावा किसी भी तरह के शुभ काम किए जा सकते हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
during panchak some special work has not been considered as good

-Tags:#Panchak 2017#Astrology#Type of Panchak#Death Panchak
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo