Top

दुर्गा सप्तशती का ये मंत्र अच्छी नींद लाने के लिए होता है बेहद अच्छा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jan 9 2018 3:16PM IST
दुर्गा सप्तशती का ये मंत्र अच्छी नींद लाने के लिए होता है बेहद अच्छा

अक्सर लोग नींद न आने की समस्या से परेशान रहते हैं। इस वजह से कई बार दवा तक का सहारा ले लेते है। परिणाम ये होता है कि शरीर खराब होने लगता है। दुर्गा सप्तशती के इस मंत्र को सोते वक्त मन ही मन जपने से तुरंत नींद आती है। इसके अलावे दुर्गा सप्तशती का यह मंत्र जहरी नींद लाने में सहायक होता है।

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि 2017: माता दुर्गा आएंगी 'डोली' पर, हो जाएं सतर्क

नींद से जागने के बाद यदि फ्रेश व तरोताजा महसूस नहीं करते हैं। दिन भर थकान और चिड़चिड़ाहट रहती है। बिस्तर पर लेटने के बाद भी अगर नींद नहीं आती है और काफी दर तक जगे रहते हैं। तो आपको सोते वक्त दुर्गा सप्तशती के इस मंत्र का जाप करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: दुर्गा सप्तशती: खुबसूरत और गुणवान पत्नी के लिए करें इस छोटे से मंत्र का जाप

 

दुर्गा सप्तशती के इस मंत्र का प्रयोग गहरी नींद लाने के‍ लिए किए जाते हैं। इस मंत्र का प्रयोग करने से उन लोगों को भी लाभ होता है जिनकी निंद बीच बीच में टूट जाती है। 

मंत्र है-

 'निद्रां भगवतीं विष्णो अतुलाम तेजसः प्रभु' 

 इनके आलावा आप दुर्गा सप्तशती के सिद्ध-मंत्र के बारे में जानिए, सिद्ध मंत्र का अर्थ होता है कि वे मंत्र जो माँ दुर्गा के लिए प्रयुक्त किया जाता हो अर्थात मॉ दुर्गा को नमन करते हुए उनके चरणों में अपने आप को समर्पित करते हुए उनके सिद्ध मंत्रो का जाप करना जिससे माँ दुर्गा प्रसन्न होकर अपने भक्तों को इच्छित फल प्राप्ति का अवसर देती है।
 
दुर्गा सप्तशती के सिद्ध-मंत्र के मंत्र विभिन्न प्रकार के होते है, जो कि हर एक इच्छाओ पर निर्भर करती है, और इन मंत्रो का कम से कम ११, २१, ५१ अथवा १०८ बार जाप करने से उस व्यक्ति की मनोकामना पूर्ण होती है।
 
 
 

दुर्गा सप्तशती के सिद्ध-मंत्र

दुर्गा सप्तशती के सिद्ध-मंत्र के मंत्र कुछ इस प्रकार है:
 

आपत्त्ति उद्धारक

शरणागत दीनार्त परित्राण परायणे।
 
सर्वस्यार्तिहरे देवी नारायणि नमो स्तु ते ॥
 

भयनिवारक

सर्वस्वरुपे सर्वेशे सर्वशक्तिमन्विते।
 
भये भ्यस्त्राहि नो देवी दुर्गे देवी नमो स्तु ते ॥
 

पापनाशक

हिनस्ति दैत्येजंसि स्वनेनापूर्य या जगत्।
 
सा घण्टा पातु नो देवी पापेभ्यो नः सुतानिव ॥
 

रोगनाशक

रोगानशेषानपहंसि तुष्टा रुष्टा तु कामान् सकलानभिष्टान्।
 
त्वामाश्रितानां न विपन्नराणां त्वामाश्रिता ह्माश्रयतां प्रयान्ति ॥
 

पुत्र प्राप्ति के लिये

देवकीसुत गोविंद वासुदेव जगत्पते।
 
देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः ॥

 

इच्छित फल प्राप्ति

एवं देव्या वरं लब्ध्वा सुरथः क्षत्रियर्षभः
 
 

महामारी नाशक

जयन्ती मड्गला काली भद्रकाली कपालिनी।
 
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमो स्तु ते ॥
 

शक्ति प्राप्ति के लिये

सृष्टि स्तिथि विनाशानां शक्तिभूते सनातनि।
 
गुणाश्रेय गुणमये नारायणि नमो स्तु ते ॥
 

इच्छित पति प्राप्ति के लिये

ॐ कात्यायनि महामाये महायेगिन्यधीश्वरि।
 
नन्दगोपसुते देवी पतिं मे कुरु ते नमः ॥
 

इच्छित पत्नी प्राप्ति के लिये

पत्नीं मनोरामां देहि मनोववृत्तानुसारिणीम्।
 
तारिणीं दुर्गसंसार-सागरस्य कुलोभ्दवाम् ॥
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
durga saptashati mantra will help in sleeping

-Tags:#Durga Saptashati#Durga Saptashati Mantra#Sleep#Goddess of Sleep
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo