Breaking News
Top

देवउठनी एकादशी: ये है पूरी पूजा विधि

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 31 2017 10:22AM IST
देवउठनी एकादशी: ये है पूरी पूजा विधि

देवउठनी एकादशी के दिन ही भगवान विष्णु चार महीने तक शयन के बाद जगते हैं। कार्तिक मास के शुक्लपक्ष एकादशी को मनाई जाने वाली देवउठनी एकादशी को तुलसी विवाह किया जाता है। साथ ही इस दिन से विवाह संस्कार या अन्य किसी शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाती है। देवउठनी एकादशी के दिन विष्णु की पूजा की जाती है। तो जानते हैं भगवान विष्णु की आराधना की विधि।

देवउठनी एकादशी के दिन प्रायः महिलाएं व्रत रखती हैं। उन्हें सुबह उठकर स्नानकर लेना चाहिए और घर के आंगन में चौका बनाना चाहिए। फिर भगवान विष्णु के पैर की आकृति बनाकर ढक दिया जाता है ताकि इसमें धूप ना लगे। फिर वहीं विष्णु जी को जगाने के लिए शंख, वीणा और अन्य बजने वाले यंत्र बनाया जाता है। शाम के समय घर में भजन कीर्तन भी किए जाते हैं। इसके बाद ही भगवान विष्णु की विधिवत पूजा का विधान है।

इसे भी पढ़ें: देवउठनी एकादशी: 'तुलसी विवाह' पूजा करते हैं तो आज ही जान लें ये अहम बातें

इस विधि से करें पूजा 

सबसे पहले भगवान विष्णु का सिंहासन सजाएं। उसके बाद घर के आंगन में विष्णु का चित्र बनाकर उसपर फल, पकवान इत्यादि चढ़ाकर उसके ऊपर दीपक जलाना चाहिए।

मंत्र

इसे भी पढ़ें: देवउठनी एकादशी: ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा, टल जाएगा अकाल मृत्यु का खतरा

भगवान की पूजा के बाद "यज्ञेन यज्ञमयजन्त देवास्तानि धर्माणि प्रथमान्यासन, तेह नाकं महिमानः सचन्त यत्र पूर्वे साध्याः सन्तिदेवाः॥" इस मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।

इसके बाद प्रह्लाद, नारद, पाराशर, पुण्डरीक, व्यास, अम्बरीष, शुक, शौनक आदि भक्तों का स्मरण करके चरणामृत, पंचामृत या प्रसाद बांटना चाहिए। इसके बाद एक रथ में भगवान विष्णु को बैठाकर कर खुद उसे खींचें और उन्हें भ्रमण करवाएं।

देवउठनी एकादशी की रात को सुभाषित स्त्रोत पाठ, भागवत कथा सुनने के बाद प्रसाद का वितरण करना चाहिए।

इस मंत्र से जागेंगे भगवान

उत्तिष्ठ गोविन्द त्यज निद्रां जगत्पतये। त्वयि सुप्ते जगन्नाथ जगत्‌ सुप्तं भवेदिदम्‌॥

उत्थिते चेष्टते सर्वमुत्तिष्ठोत्तिष्ठ माधव। गतामेघा वियच्चैव निर्मलं निर्मलादिशः॥

शारदानि च पुष्पाणि गृहाण मम केशव।

इस मंत्र को बोलकर भगवान विष्णु को जगाना चाहिए।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
dev uthnani ekadashi puja vidhi tulsi vivah

-Tags:#Dev Uthani Ekadashi#Tulasi Vivah
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo