Breaking News
Top

छठ 2017: इस तरह देंगे डूबते सूर्य को अर्घ्य, कोई समस्या नहीं रहेगी जिंदगी में

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 24 2017 7:27AM IST
छठ 2017: इस तरह देंगे डूबते सूर्य को अर्घ्य, कोई समस्या नहीं रहेगी जिंदगी में

छठ व्रत में ही डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। उगते सूर्य को अर्घ्य देने का चलन तो कई व्रत और त्योहारों में है। लेकिन बहुत बड़े स्तर  पर लोग छठ में डूबते सूर्य को अर्घ्य देते हैं। छठ महापर्व में पहले डूबते सूर्य को ही अर्घ्य दिया जाता है फिर आगामी सुबह को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है।

इसे भी पढ़ें: छठ पर्व 2017: छठ व्रत की ये है मान्यता और सावधानियां

छठ पर्व में अस्त होते सूर्य को अर्घ्य देने के पीछे बहुत पुरानी कथा है। पुराणों में उल्लेख मिलता है कि डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ-साथ उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने से मनुष्य के जीवन की प्रायः सभी समस्याओं का समाधान हो जाता है।

डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के लाभ 

बिना कारण मुकदमे में फसें लोगों को इसका लाभ मिलता है। इस तरह के मुकदमों से छुटकारा मिलता है।

सरकारी विभागों में यदि कोई काम अटका हुआ है तो इस स्थिति में अस्त होते सूर्य को अर्घ्य देने से बिगड़े काम बनते हैं।

जिस व्यक्ति को पाचन तंत्र से संबंधित समस्या है उसे इस प्रकार की समस्यों से लाभ मिलता है।

इसे भी पढ़ें: छठ पूजा 2017: महत्वपूर्ण पूजन सामग्री

जिन लोगों को आँखों की रोशनी घट रही है या कम हो रही है उन्हें डूबते सूर्य को अर्घ्य को देना लाभकर माना गया है।

यदि कोई विद्यार्थी परीक्षा में बार-बार असफल हो रहा हो तो उन्हें अस्त होते सूर्य को अर्घ्य जरूर देना चाहिए। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
chhath 2017 chhath men kyon dete hain dubte surya ko arghya

-Tags:#Chhath Puja 2017#Chhth Vrat
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo