Top

सामुद्रिक शास्त्र: ऐसे 'वक्ष स्थल' वाली स्त्रियों में होते हैं ये विलक्षण गुण

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 23 2017 11:32AM IST
सामुद्रिक शास्त्र: ऐसे 'वक्ष स्थल' वाली स्त्रियों में होते हैं ये विलक्षण गुण

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के विभिन्न अंगों की संरचनाओं के आधार उसके स्वभाव के बारे में पता चलता है। समुद्र शास्त्र में स्त्रियों की छाती की संरचना के आधार पर उनके स्वभाव के बारे में बताया गया है। समुद्र शास्त्र के अनुसार स्त्री की छाती की संरचना के आधार पर कुछ इस प्रकार स्वभावगत विशेषताओं के बारे में बताया गया है।

वक्ष स्थल की बनावट के आधार पर स्वभाव 

जिन स्त्रियों की छाती चौड़ी होती है, वे स्त्रियां साहसी, अहंकारी व क्रोधी स्वभाव वाली होती हैं। ये परिवार पर अपना सिक्का चलाने का प्रयास करती रहती हैं। जिन स्त्रियों की छाती लाल रंग की या फिर एकदम काले रंग की होती है, वे स्त्रियां सुंदर व अधिक पुत्रों को जन्म देने वाली होती है। ऐसी स्त्रियां सांसरिक छल-प्रपंचो से दूर रहना ही पसन्द करती है।

इसे भी पढ़ें: समुद्र शास्त्र: यदि आपकी हथेली में है ये चिन्ह, कभी नहीं मिलेगा पत्नी-सुख

जिन स्त्रियों की छाती पर हल्के बाल होते हैं, वे स्त्रियां अनेक पुरूषों के साथ रमण करने वाली होती है। ऐसी स्त्रियां झूठ बोलने में माहिर होती हैं और ये अपनों को भी धोखा देने से नहीं चूकती हैं।

इसे भी पढ़ें: 'शुक्र' का 'वृश्चिक राशि' में गोचर, इन राशियों के लिए है भरपूर आर्थिक उन्नति के योग

जिन स्त्रियों की छाती उंची व पुष्ट होती है वे स्त्रियां अनेक प्रकार के सुखों को भोगने वाली होती हैं एवं धनधान्य व ऐश्वर्य से परिपूर्ण होती है। जिन स्त्रियों की छाती नीची व लटकी हुई होती है, वे जिस परिवार में जाती हैं वहां पर दरिद्रता आने की आशंका रहती है। ऐसी स्त्रियां अपने पति से हमेशा झगड़ा करने वाली मानी जाती हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
aisee vakshasthal vaalee striyon mein hote hain ye vilakshan gun

-Tags:#Samudrik Shastra#Samudra Shastra#Lakshan vigyan#Samudra shastra striyon ke lakshan
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo